स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सनी देओल के पक्ष में प्रचार करने गुरदासपुर पहुंचे पिता धर्मेन्द्र, यह बात कहते हुए बेटे के लिए मांगे वोट

Prateek Saini

Publish: May 11, 2019 20:52 PM | Updated: May 11, 2019 20:52 PM

Gurdaspur

धर्मेन्द्र ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि हम पंजाब के भाई-बहिनों से समर्थन मांग रहे है

(गुरदासपुर): पंजाब की गुरदासपुर लोकसभा सीट से भाजपा उम्मीदवार अभिनेता सनी देओल के पक्ष में प्रचार करने आज पिता धर्मेन्द्र भी पहुंच गए। वयोवृद्ध अभिनेता धर्मेन्द्र ने पुत्र सनी देओल के लिए अपने पहले दिन के प्रचार के दौरान कहा कि वे राजनीतिज्ञ नहीं हैं और इसलिए भाषण देने नहीं आए हे। मैं देशभक्त हूं और यहां के मुद्दों की जानकारी लेने आया हूं।

धर्मेन्द्र ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि हम पंजाब के भाई-बहिनों से समर्थन मांग रहे है। इसके लिए हम उनके मुद्दे और समस्याएं समझने का प्रयास कर रहे है। हम इनका सही समाधान निकालने का प्रयास करेंगे। मौजूदा कांग्रेस सांसद और प्रत्याशी सुनील जाखड द्वारा सन्नी देओल को स्थानीय मुद्दों पर बहस की चुनौती दिए जाने के सवाल पर धर्मेन्द्र ने कहा कि इस तरह की बहस के लिए हम राजनीतिज्ञ नहीं है। मैं सुनील जाखड के पिता बलराम जाखड का मित्र रहा हूं। वर्ष 2004 में धर्मेन्द्र ने राजस्थान में बलराम जाखड के खिलाफ चुनाव लडने से
इनकार कर दिया था। धर्मेन्द्र ने कहा कि भाजपा ने इस चुनाव में उनसे पटियाला से लडने की पेशकश की थी। मैंने भाजपा को कहा कि मैं अमरिंदर सिंह परिवार को बहुत अच्छी तरह जानता हूं और परिणीत कौर का बहुत सम्मान करता हूं। मैंने पटियाला से चुनाव लडने से इनकार किया तो मुझे लुधियाना से चुनाव लडने की पेशकश की गई। धर्मेंन्द्र लुधियाना के करीबी साहनेवाल के मूल निवासी है।

उधर कांग्रेस प्रत्याशी और मौजूदा सांसद सुनील जाखड का मानना है कि सनी देओल को संवाद बोलने से अधिक कोई जानकारी नहीं है। चुनाव होते ही यह अभिनेता भी पूर्व के अभिनेता की तरह गायब हो जाएगा। वे अभिनेता धर्मेन्द्र के प्रशंसक हैं और सनी देओल को भी पसंद करते है। लोग बाहरी के मुकाबले स्थानीय को पसंद करेंगे। गुरदासपुर लोकसभा क्षेत्र के 14 लाख 68 हजार 972 मतदाताओं में सेना के मौजूदा और पूर्व जवान बहुत है। इनके बीच भाजपा सनी देओल की फौजी छवि से सीट जीतना चाहती है।