स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

भौंरा नदी में ट्रक के साथ बहे ड्राइवर-क्लीनर, ग्रामीणों ने बचाया

Brajesh Kumar Tiwari

Publish: Sep 10, 2019 21:46 PM | Updated: Sep 10, 2019 21:46 PM

Guna

जिले में हो रही लगातार बारिश आफत बनी हुई है। गुना से फतेहगढ़ होकर राजस्थान को जोडऩे वाला मार्ग भौंरा नदी उफान पर आ गई। इससे मंगलवार को यह मार्ग दिनभर बंद रहा। पुल के ऊपर नदी का पानी 4 फीट तक बह रहा था, इसी बीच दिन में एक ट्रक चालक ने अपनी जान जोखिम में डालकर पुल पार करने की कोशिश की, लेकिन वह ट्रक सहित बह गए।

गुना. जिले में हो रही लगातार बारिश आफत बनी हुई है। गुना से फतेहगढ़ होकर राजस्थान को जोडऩे वाला मार्ग भौंरा नदी उफान पर आ गई। इससे मंगलवार को यह मार्ग दिनभर बंद रहा। पुल के ऊपर नदी का पानी 4 फीट तक बह रहा था, इसी बीच दिन में एक ट्रक चालक ने अपनी जान जोखिम में डालकर पुल पार करने की कोशिश की, लेकिन वह ट्रक सहित बह गए। ग्रामीणों ने नदी में कूदकर दोनों की जान बचाई। चालक के हाथ में चोट आई है। घटना के बाद वह इतना डर गया कि वह कुछ बताने की स्थिति में नहीं है। उधर, एक युवक पार्वती नदी में नहाने गया था, वह भी गायब है। युवक का नाम सुनील आदिवासी बताया जाता है। उसका सुबह 11 बजे से कोई पता नहीं है। दरअसल, रात के समय बमोरी में 6.7 सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई। इसके बाद सुबह से फिर बारिश होना शुरू हो गई। इस वजह से झागर और भौंरा नदी उफान पर चल रही हैं। परिणाम स्वरूप कई वाहन चालक दोनों नदियों के बीच में फंसे हुए हैं। सोमवार-मंगलवार की रात में गुना में 21.6 मिमी, आरेान में 31, राघौगढ़ में 6, चांचौड़ा में 26 और कुंभराज में 48 मिमी पानी गिरा। इसी के साथ जिले में अब तक 1275.5 मिमी औसत बारिश हो चुकी है, जो कुल बारिश का 121.1 प्रतिशत है। उधर, लगातार बारिश से फसलें चौपट हो गई हैं। कई खेतों में पानी भरा हुआ है।


कई नदियां उफान पर


नदियां उफान पर आने से बमोरी, फतेहगढ़, मधुसूदनगढ़, धरनावदा क्षेत्र प्रभावित है। ढिमरपुरा के पास एक दिन पहले ही महिला और दो बच्चे फंस गए थे, जिनको रेस्क्यू टीम ने सुरक्षित निकाला। डेम, तालाब और नदियों में पानी पहले से भरा होने थोड़ी सी बारिश में नदियां उफान पर आ जाती हैं। इससे खतरा बना हुआ है। इसके बाद भी लोग रपटा और पुलों पर पानी होने पर पार कर रहे हैं।


आगे क्या: आज हो सकती है भारी बारिश


उधर, मौसम विभाग ने आने वाले 24 घंटे के लिए भी चेतावनी जारी की है। प्रदेश में 38 जिलों में बारिश का अलर्ट है। 18 जिलों में रेड अलर्ट घोषित किया है, जबकि गुना समेत करीब 20 जिलों में येलो अलर्ट हैं। इन जिलों में कहीं-कहीं भारी बारिश हो सकती है। मौसम विभाग के अनुसार, मप्र में अभी तीन सिस्टम सक्रिय हैं और बारिश के 20 दिन शेष बचे हैं।


यहां हो चुके हैं गंभीर हादसे, गईं कई जान


चंदेरी नदी के रपटा से दो लोग बहे थे और दोनों की मौत हो गई।
रुठियाई का रपटा से युवक पानी में बहा, जिससे उसकी मौत हो गई। कार चालक एनएफएल का कर्मचारी और उसका बेटा बाल-बाल बचे।
बमोरी और कैंट क्षेत्र में मछली पकडऩे गए तो व्यक्ति बह गए थे, जिससे उनकी मौत हो गई।