स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

तीन दिन बाद खिली धूप, भौंरा नदी उफान पर, फसले हो रही खराब

Brajesh Kumar Tiwari

Publish: Sep 14, 2019 22:13 PM | Updated: Sep 14, 2019 22:13 PM

Guna

तीन दिन की प्रलयकारी बारिश के बाद शनिवार को मौसम साफ हो गया और दोपहर तक खूब धूप खिली रही। इससे दिन का पारा भी चढ़कर 31 डिग्री सेल्सियस पर आ पहुंचा। इसके बाद भी किसानों को राहत नहीं मिल पाई। गांवों में जहां फसलें चौपट पड़ी हैं, वहीं हवा लगने से कच्चे मकान गिर गए हैं।

गुना. तीन दिन की प्रलयकारी बारिश के बाद शनिवार को मौसम साफ हो गया और दोपहर तक खूब धूप खिली रही। इससे दिन का पारा भी चढ़कर 31 डिग्री सेल्सियस पर आ पहुंचा। इसके बाद भी किसानों को राहत नहीं मिल पाई। गांवों में जहां फसलें चौपट पड़ी हैं, वहीं हवा लगने से कच्चे मकान गिर गए हैं। कलेक्टर भास्कर लाक्षाकार ने नुकसान का सर्वे करने टीम भेज दी हैं, लेकिन लगातार बारिश के बाद से नुकसान और भी ज्यादा बढ़ सकता है।
कलेक्टर लाक्षाकार ने बताया, अब तक दो हजार हेक्टेयर की फसल खराब हो चुकी है। जहां फसलों में 25 प्रतिशत से अधिक नुकसान हैं। उनका सर्वे करा रहे हैं। अब तक जो आंकड़े सामने आए हैं, उनमें चांचौड़ा तहसील में सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है। जिले में 80 से 90 प्रतिशत किसानों ने सोयाबीन की बोवनी की थी और अब फसल पकने पर आई, लेकिन भारी बारिश से फसल खराब हो गई है। कई जगह तो सोयाबीन के पौधों में पलियां अंकुरित होने लगी है। नुकसान की तहसीलवार रिपोर्ट तैयार हो रही है। इसमें करीब 20 से 25 हजार हेक्टेयर की फसल खराबी का आंकड़ा आ रहा है। लेकिन बारिश के चलते सर्वे नहीं हो पाया। पानी खुलने के बाद सर्वे हो सकेगा।

इसलिए बढ़ा हुआ है भौंरा नदी का जल स्तर, रास्ता बंद


गुना-फतेहगढ़ मार्ग की प्रमुख भौंरा नदी का जलस्तर दिनभर बारिश बंद होने के बाद भी कम नहीं हुआ। ुशनिवार शात तक पुल के ऊपर तीन फीट पानी था। इस वजह से फतेहगढ़ का रास्ता बंद है। दरअसल, इस नदी में बमोरी के 3 बड़े बांधों का पानी आ रहा है। इसमें रामपुर, मकरावदा और बाडियानाला की वेस्टवीयर से पानी आ रहा है। तीनों ही बांध फुल हैं। इनमें काफी ज्यादा पानी रुका हुआ है और जो वेस्टवीयर से बाहर निकल रहा है। इस वजह से भौंरा नदी में पानी कम नहीं हुआ। रविवार तक फतेहगढ़ का ये मार्ग खुल सकता है।

इसलिए बढ़ा हुआ है भौंरा नदी का जल स्तर, रास्ता बंद


गुना-फतेहगढ़ मार्ग की प्रमुख भौंरा नदी का जलस्तर दिनभर बारिश बंद होने के बाद भी कम नहीं हुआ। ुशनिवार शात तक पुल के ऊपर तीन फीट पानी था। इस वजह से फतेहगढ़ का रास्ता बंद है। दरअसल, इस नदी में बमोरी के 3 बड़े बांधों का पानी आ रहा है। इसमें रामपुर, मकरावदा और बाडियानाला की वेस्टवीयर से पानी आ रहा है। तीनों ही बांध फुल हैं। इनमें काफी ज्यादा पानी रुका हुआ है और जो वेस्टवीयर से बाहर निकल रहा है। इस वजह से भौंरा नदी में पानी कम नहीं हुआ। रविवार तक फतेहगढ़ का ये मार्ग खुल सकता है।

ये मार्ग खुला, राहत की सांस ली


लगातार बारिश के बाद शनिवार को मौसम साफ होने से मधुसूदनगढ़, धरनावदा और झागर का सड़क मार्ग चालू हो गया है। लगातार पानी गिरने से टेम, चंदेरी और पार्वती नदी उफान पर थीं। मधुसूदनगढ़ तहसील प्रभावित थी। उधर, बमोरी फतेहगढ़ मार्ग भी बंद था, जो मौसम साफ होने के बाद आंशिक रूप से चालू हो गया। धरनावदा से राजस्थान वाला मार्ग चालू हो गया।