स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Nagar Palika : दूसरों की जान बचाने वाले खुद ही खतरे में

Narendra Kushwah

Publish: Aug 11, 2019 14:56 PM | Updated: Aug 11, 2019 14:56 PM

Guna

खंडहर भवन में रह रहे फायर बिग्रेड के एक दर्जन कर्मचारी
जानकारी होने के बाद भी जिम्मेदार अधिकारी बने हुए हैं उदासीन
दीवारों मेें आई गहरी दरार, फर्श धसका, कभी भी गिर सकता है भवन

गुना। नगर पालिका nagar palika news प्रशासन को आम जनता तो क्या अपने कर्मचारियों तक की चिंता नहीं है। जिसका एक उदाहरण है फायर बिग्रेड यूनिट में तैनात एक दर्जन कर्मचारी। जो पिछले काफी समय से खंडहरनुमा भवन में रहकर अपनी ड्यूटी अंजाम दे रहे हैें। गौर करने वाली बात है कि इस भवन की संपूर्ण दीवारों में गहरी दरार आ चुकी है। फर्श डेढ़ फुट तक जमीन में धसक गई है।

mp

किसी भी समय गिर सकता है भवन
छत का प्लास्टर उखड़ चुका है। कुल मिलाकर भवन की हालत देखकर ही साफ नजर आता है कि यह भवन किसी भी समय गिर सकता है। जिसकी जानकारी कर्मचारी अपने अधिनस्थ अधिकारियों को कई बार लिखित व मौखिक रूप से दे चुके हैं। इसके बावजूद नपा के जिम्मेदार आज भी हादसे का इंतजार कर रहे हैें। अधिकारियों के इस उदासीन रवैये को लेकर कर्मचारियों में काफी रोष व निराशा है।

guna


हादसे का भय सताता रहता
जानकारी के मुताबिक एबी रोड पर डीईओ कार्यालय के नजदीक स्थित पुराना कंट्रोल भवन है। जो बेहद जर्जर हालत में पहुंच चुका है तथा वर्तमान में रहने लायक नहीं है। लेकिन फिर भी जर्जर कक्षों में फायर बिग्रेड यूनिट में तैनात एक दर्जन कर्मचारी मजबूरीवश रह रहे हैं। जिन्हें हर समय हादसे का भय सताता रहता है।

mp news

दीवारों की दरारें देखते रहते हैं
जब भी यह कर्मचारी कमरे में बैठे रहते हैं तो पूरे समय कक्ष की दीवारों की दरारें देखते रहते हैं कि यह कितनी चौड़ी हो गई हैें। एक दूसरे से चर्चा करते रहते हैं कि किसी दिन यह भवन सोते समय न गिर जाए। इसके एक कक्ष में 108 एंबुलेंस में तैनात कर्मचारी भी रहते हैं। जिनके भवन की हालत भी इसी तरह की है।

guna news

छत से पानी रिसता रहता

कमरे में पुराना कबाड़ पड़ा हुआ है। छत से पानी रिसता रहता है। तेज बारिश होने पर कमरे में भी पानी भर जाता है। ऐसे में कर्मचारी पलंग पर बैठे रहते हैंं। कुल मिलाकर शहर सहित अंचल के नागरिकों की आपातकाल में सुरक्षा करने वाले कर्मचारी ही असुरक्षित हैं। यह दयनीय स्थिति मौजूदा प्रशासन की कार्यप्रणाली पर बड़ा सवाल खड़ा कर रही है।

today news

यह बोले जिम्मेदार
जिस भवन में फायर बिगे्रड कर्मचारी रह रहे हैं, उसकी हालत कैसी है, यह मेरी जानकारी में नहीं है। कर्मचारी लिखित आवेदन दें। मैं इंजीनियर को भेजकर दिखवा लेता हूं।
राजू यादव, प्रभारी अध्यक्ष नगर पालिका गुना