स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बेखौफ अपराधियों के हौंसले हुए बुलंद, गुना हुआ शर्मसार

Deepesh Tiwari

Publish: Sep 21, 2019 12:49 PM | Updated: Sep 21, 2019 12:49 PM

Guna

अपराध: सिटी कोतवाली, जामनेर और धरनावदा थाना क्षेत्र के मामले...

गुना। मध्य प्रदेश में इन दिनों अपराधियों के हौंसले बुलंदी पर हैं। जिसके चलते प्रदेश के विभिन्न जिलों में हर रोज कहीं न कहीं से किसी बड़ी घटना की सूचना सामने आ रही है।

वहीं दुसरी ओर आराम व आलस्य से भरी कुंभकर्णीय नींद में सो रही पुलिस अब तक कोई बड़ी कार्रवाई करती नहीं दिख रही है।

ऐसे की कुछ मामले मध्यप्रदेश के गुना जिले से भी सामने आएं हैं। जिनके चलते शुक्रवार के दिन सामने आए अपराधियों के कृत्यों ने गुना को शर्मशार कर दिया। पहला मामला धरनावदा थाना क्षेत्र के रुठियाई का आया, जहां पति-पत्नी के विवाद में डेढ़ महीने के नवजात को उसकी मां ने ही गोद से पटककर मार दिया।

ये घटना जितने भी लोगों के कानों तक पहुंची, लोग नि:शब्द हो गए। भोर के बाद जैसे ही थोड़ा दिन चढ़ा तो जामनेर थाना क्षेत्र के बलरामपुरा से मानवता को शर्मशार कर देने वाली घटना सामने आई।

जहां एक भील युवक को चोरी के संदेह में भीड़ ने निर्वस्त्र कर जूतों की माला पहनाकर जुलूस निकाला, तीसरी घटना सिटी कोतवाली की श्रीराम कालोनी की सामने आई, जहां 3 दिन से गायब युवती को कुएं में शव मिला, पुलिस उसके परिजनों के बयान लेती रही।

बेखौफ अपराधियों के हौंसले हुए बुलंद, गुना हुआ शर्मसार

मर गई ममता: पति से विवाद हुआ तो पत्नी ने गोद से फेंका बालक, मौके पर ही मौत

जिला मुख्यालय से 15 किमी दूर रुठियाई कस्बे में दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। शुक्रवार को सुबह पति-पत्नी में खाना बनाने को लेकर झगड़ा हुआ। तैश में आकर मां ने अपने करीब 35 दिन के बच्चे को पटककर मार दिया।

पेशे से दोनों मजदूर हैं और आपसी कहासुनी दो दिन से कलह बनी हुई थी। घटना के बाद जैसे ही मामला धरनावदा थाना की चौकी रुठियाई में पहुंचा तो घटना आग की तरह फैल गई। जिसे भी जानकारी लगी, वह दंग रह गया।

दरअसल, रुठियाई क्षेत्र में ये अमानवीय घटना सामने आई है। इस घटना में एक मां ने अपने ही दूध मुहे बच्चे को जमीन पर उठाकर पटक दिया। जिससे नवजात की मौत हो गई। सुबह जब उसके पिता ने देखा तो नवजात कि दिल की धड़कन थम चुकी थी।

रुठियाई के नारोली मोहल्ला निवासी गजराज कुशवाह का अपनी पत्नी विमला बाई से झगड़ा हो गया था। दोनों के बीच झगड़ा इतना बढ़ा कि तैश में आकर महिला ने बिस्तर से अपने बच्चे को उठाकर नीचे पटक दिया। सुबह उसकी सांसे थम चुकी थी।

रात में हुआ था पति पत्नी में विवाद
पुलिस के अनुसार, रात के समय पति पत्नी में विवाद हुआ। बच्चे की पिटाई लगाई तो पति ने महिला को थप्पड़ मार दिया। इसके बाद महिला की गोद में जो बच्चा था, उसे नीचे पटक दिया और पानी पीने चली गई। आकर उसने बच्चे को लिया और सो गई। सुबह देखा तो बच्चा मृत मिला।

जिसने सुना, उसके रौंगटे खड़े हो गए
मां द्वारा गोद से फेंके गए बच्चे की मौत की कहानी जिसको भी सुनाई पड़ी, उसके रौंगटे खड़े हो गए। लोग घटना की जानकारी मिलने के बाद चौकी और अस्पताल भी पहुंचे। छोटा भीम के चित्र वाली तौलिया में नवजात का शव देखकर लोगों की आंखे भर आईं। चौकी में भी दिनभर भीड़ जमा रही।।

महिला को हिरासत में लेे लिया है: बिरथरे
उधर, इस मामले को लेकर धरनावदा थाना प्रभारी नीरज बिरथरे ने बताया, महिला को भी नहीं पता था कि उसका बेटा मर जाएगा। हमनें विमला कुशवाह के खिलाफ आईपीसी की धारा 304 के तहत मामला दर्ज कर लिया है। महिला को फिलहाल हिरासत में ले लिया है।

बेखौफ अपराधियों के हौंसले हुए बुलंद, गुना हुआ शर्मसार

भीड़ तंत्र: चोरी के शक में भील युवक को निर्वस्त्र कर गांव में घुमाया, पीटा भी-

जामनेर थाना से करीब 20 किमी दूर जंगली क्षेत्र में एक भील युवक के साथ भीड़ द्वारा निर्ममता से मारपीट करने का मामला सामने आया है। दोपहर तक पुलिस भी इस मामले से अपरिचित रही, शाम के समय पुलिस ने 7 लोगों पर प्रकरण दर्ज किया।

दरअसल, जामनेर थाना क्षेत्र के बलराम पुरा गांव में एक युवक को निर्वस्त्र कर उसके साथ मारपीट की गई। भीड़ ने उसको जूतों की माला पहनाई और इसके बाद रोड पर जुलूस निकाला गया।

पीडि़त के छोटे भाई देवेंद्र भील पुत्र बापूलाल भील ने बताया कि मेरे भाई कमल भील को उनारसी जाते समय बलरामपुर के कुछ लोगों ने पकड़ लिया और मोटरसाइकिल चोरी के आरोप में उसके साथ बेरहमी से मारपीट की। मारपीट करने के बाद उन लोगों ने उसके कपड़े निकाल दिए औरहाथ बांधकर निर्वस्त्र करके उसको जूतों की माला पहनाकर गांव की सड़कों पर घुमाया।

इस बात की जानकारी हमें लगी तो उन लोगों ने हमें भी धमकाया और पुलिसमें रिपोर्ट करने के लिए नहीं जाने दिया। डायल 100 को सूचना दी, तब जाकर आरोपियों पर मामला दर्ज किया जा सका।

दो दिन पुरानी थी ये घटना
युवक के साथ मारपीट करने की घटना दो दिन पुरानी थी। इसमें कुछ लोगों ने एक युवक को निर्वस्त्र करने के बाद उसके साथ बेरहमी से मारपीट की। उसके चेहरे और सिर में चोट आई। उसकी सार्वजनिक तौर पर बेइज्ती की गई थी। लेकिन दो दिन तक पुलिस को जानकारी नहीं लग पाई थी।

सोशल मीडिया पर वायरल हुआ वीडियो
युवक को निवस्त्र करने का वीडियो जैसे ही सोशल मीडिया पर आया, तो आग की तरह फैल गया। जबकि घटना 18 सितंबर को दोपहर 2.30 बजे थी। दो दिन तक ये मामला दबा रहा, सोशल मीडिया पर आने के बाद पुलिस भी सक्रिय हुई। इसके बाद आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया।

सात लोगों पर किया केस दर्ज: गोयल
शिकायत के बाद सात लोगों पर मामला दर्ज किया है। जामनेर थाना प्रभारी नरेंद्र गोयल ने बताया, हमनें कमल सिंह, मुंशीलाल, प्रकाश, संतोष, राकेश और इंदर भील के खिलाफ मारपीट और सार्वजनिक रूप से बेइज्जती करने का मामला दर्ज किया है। आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया गया है।

बेखौफ अपराधियों के हौंसले हुए बुलंद, गुना हुआ शर्मसार

लापरवाही: पुलिस लेती रही तीन दिन तक बयान, कुएं में मृत मिली 22 साल की पिंकी-

सिटी कोतवाली से करीब 4 किमी दूर श्रीराम कालोनी में शुक्रवार को दोपहर बाद एक कुएं में युवती का शव मिला। घटना के बाद पूरी कालोनी के लोग घटनास्थल पर जमा हो गए और लोगों ने पुलिस पर लापरवाही करने के आरोप लगाए और यहां तक की पुलिस के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे भी लगे।

पुलिस ने बताया, श्रीराम कालोनी निवासी पिंकी पुत्री लालाराम अहिरवार (22) का शव कालोनी के ही एक कुएं में मिला है। कुएं के चारों ओर तार फेंसिंग हो रही थी। सूचना पर मौके पर एसपी राहुल कुमार लोढ़ा, टीआई अवनीत शर्मा सहित पूरा पुलिस बल पहुंचा।

शव निकालकर पीएम कराने अस्पताल पहुंचाया। उधर, घटना स्थल पर मृतिका के पिता और भाई सहित परिजनों का रो रोकर बुरा हाल है। उन्होंने पुलिस पर लापरवाही करने का आरोप लगाया। उन्होंने एक महिला गुड्डी बाई, राजा और राजा की मां पर संदेह जताया। मामला प्रेम प्रसंग से भी जुड़ा बताया जा रहा है।

दो दिन से लिए जा रहे थे बयान
मृतिका के परिजनों का आरोप है कि उन्होंने आरोपियों के नाम बताए थे, लेकिन कोतवाली पुलिस आरोपियों को पकडऩे के बजाय, उनके ही बार बार बयान ले रही थी। शुक्रवार को भी बयान के लिए थाने बुलाया था, थाने जाकर पता चला कि हमारी बिटियों की श्रीराम कालोनी के कुएं में लाश मिली है।

संदेही का परिवार कॉलोनी से गायब
इस घटना के सामने आने के बाद शुक्रवार को परिजन जिन संदेहियों पर आरोप लगा रहे थे, वे दो दिन से गायब हैं। हालांकि पुलिस ने उनको पूछताछ के लिए बुलाया है। मोबाइल रिकार्डिंग और संदेही लोगों से पूछताछ के बाद इस मामले से पूरी तरह पर्दा उठ सकेगा, अभी संदिग्ध बना हुआ है।

मर्ग कायम, संदेहियों को बुलाया: एसपी
घटना के बाद एसपी राहुल कुमार लोढ़ा खुद मौके पर पहुंचे। उन्होंने बताया, इस मामले में मर्ग कायम किया है। परिजनों ने जिन संदेहियों के नाम बताए हैं, उनको बुलाया है। पीएम रिपोर्ट में जो भी तथ्य सामने आएंगे, उसके अनुसार कार्रवाई की जाएगी। पुलिस की लापरवाही अभी सामने नहीं आई है।