स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

'प्राइवेट नर्सिंग होम संचालक बायोमेडिकल कचरे का सुरक्षित करें निपटान'

Praveen Mishra

Publish: Nov 19, 2019 13:16 PM | Updated: Nov 19, 2019 13:16 PM

Guna

- कलेक्टर ने संचालकों को कलेक्टर ने दिए सख्त निर्देश...

गुना. शहर के सभी प्राइवेट नर्सिंग होम संचालक नर्सिंग होम अधिनियम का ठीक से पालन करें। साथ ही शहर की स्वच्छता के लिए सकारात्मक सोच के साथ पहल करें।

यह निर्देश कलेक्टर भास्कर लाक्षाकार ने सोमवार को जिला कार्यालय के सभाकक्ष में प्राइवेट नर्सिंग होम संचालकों एवं चिकित्सकों से आयोजित बैठक में दिए। उन्होंने नर्सिंग होम संचालकों से कहा कि वे अपने नर्सिंग होम क्षेत्र अंतर्गत सीमित क्षेत्र गोद लें और उसे साफ. सुथरा रखने का जिम्मा लें।


वेस्ट मटेरियल के सही निपटान पर रखें नजर
कलेक्टर ने नर्सिंग होम्स संचालकों से बायोमेडिकल एवं सामान्य कचरे का सुरक्षित निपटान सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

उन्होंने बताया कि बायोमेडिकल वेस्ट के सुरक्षित निपटान के लिए उनके द्वारा जेके मैनेजमेंट एजेंसी चंदेरी से किए गए करार के अनुसार एजेंसी बायोमेडिकल वेस्ट का निर्धारित स्थल तक परिवहन कर ले जा रही है या नहीं समय-समय पर जांच करें।

कलेक्टर ने नर्सिंग होम से निकलने वाले सामान्य कचरे के निपटान के लिए व्यवसासिक हित के मद्देनजर 200 रुपए की राशि प्रतिमाह नगर पालिका परिषद गुना को जमा करने के निर्देश दिए ताकि नगर पालिका द्वारा उसका परिवहन निर्धारित स्थल पर सुरक्षित निपटान सुनिश्चित हो।

स्वच्छता अभियान में सहयोगी बनने के लिए कलेक्टर ने नर्सिंग होम्स एसोसिएशन को समझाइश दी कि वे अपनी तरफ से सकारात्मक पहल करते हुए नर्सिंग होम्स के आसपास का 100-50 मीटर क्षेत्र के दायरे को स्वच्छ और सुंदर रखने का संकल्प भी कर सकते हैं।

सीएमओ को निर्देशित किया कि वे समय-समय पर प्राइवेट नर्सिंग होम्स की जांच कर देखें कि बायोमेडिकल एवं सामान्य कचरे के निपटान ठीक तरह से हो रहा है या नहीं।

साथ ही शहर में 50 माइक्रॉन की पॉलीथिन बेचने वाले व्यापारियों पर कार्रवाई के निर्देश दिए। बैठक के अंत में कलेक्टर ने काम न करने वाले स्वच्छताकर्मी पर सख्ती बरतने तथा अच्छा काम करने वालों को प्रोत्साहित एवं सम्मानित करने के निर्देश दिए।

बैठक में सीएमएचओ डॉ पुरुषोत्तम बुनकर, सिविल सर्जन डॉ एसके श्रीवास्वत, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के जूनियर साइंटिस्ट जेके राजौरिया, सीएमओ संजय श्रीवास्तव सहित शहर के सभी प्राइवेट नर्सिंग होम्स संचालक मौजूद रहे।

[MORE_ADVERTISE1]