स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मध्य प्रदेश में खाद बनाने की पहली मंडी बनेगा गुना! ऐसे समझें पूरी तैयारी

Praveen Mishra

Publish: Nov 19, 2019 13:08 PM | Updated: Nov 19, 2019 13:08 PM

Guna

- यूनिट लगाने के लिए केन्द्र सरकार से मिले सवा दो लाख रुपए,आज से बनेगी खाद

गुना। गुना की सब्जी मंडी में वर्मी क पोस्ट से खाद बनाने की यूनिट लगेगी। इसके लिए केन्द्र सरकार से दो लाख बीस हजार रुपए स्वीकृत हो गए हैं। इसको लगाने के लिए मंडी प्रशासन ने पांच जगह चिन्हित की है।

वर्मी क पोस्ट से खाद बनाने का काम मंडी में मंगलवार से शुरू हो जाएगा। कचरा एकत्रित करने के लिए गेल संस्थान दो कचरा वाहन देने को तैयार हो गया है, जनवरी तक यह वाहन मंडी प्रशासन को मिल जाएंगे। इस यूनिट के लगने के बाद गुना मंडी प्रदेश में पहली मंडी होगी, जहां खाद बनाने का काम होगा।


एसडीएम शिवानी रायकवार के अनुसार प्रतिदिन सब्जी का कचरा लगभग दो सौ किलो निकलता है। फिलहाल यह बेकार जा रहा था, इसको देखते हुए वर्मी क पोस्ट के जरिए खाद बनाने पर निर्णय लिया गया और इसके लिए पांच जगह चिन्हित की गई है, खाद बनाने के लिए यूनिट लगाने हेतु एक प्रस्ताव केन्द्र के पास भेजा गया था जहां से स्वीकृति मिली और यूनिट लगाने के लिए दो लाख बीस हजार रुपए की स्वीकृति भी मिल गई।

खाद बनाने के लिए सब्जी का कचरा एकत्रित करने के लिए मंडी के पास कोई वाहन नहीं है। इसके लिए गेल संस्थान के अधिकारियों के साथ मंडी का भ्रमण किया और खाद बनाने के लिए चिन्हित की गई पांच जगह बताई गई और उनसे अनुरोध करने पर गेल प्रबंधन ने आगे बढ़कर मंडी प्रशासन को दो कचरा गाड़ी देने पर अपनी सहमति दे दी है। बताया गया कि खाद बनाने की प्रक्रिया शुरू होने से स्वच्छता रैकिंग में गुना को और अच्छे न बर मिल सकेंगे।


सिंधिया पार्क को और करेंगे विकसित
शिवानी बताती हैं कि पुरानी गल्ला मंडी यानि सब्जी मंडी के पास सिंधिया पार्क बना हुआ है, जिसको डवलप करने की भी योजना बनाई है, इस पार्क को हॉटीकल्चर के जरिए डवलप किया जाएगा।

गंदगी से भरी हुई थी नालियां
एसडीएम शिवानी रायकवार अपने अधीनस्थ अधिकारियों की टीम के साथ सब्जी मंडी पहुंचीं, वहां उनको नालियां भरी हुई मिलीं, इसके बाद उन्होंने पहले तो व्यापारियों द्वारा किए गए अतिक्रमण को हटवाया और नालियां साफ कराईं। इसके साथ ही गंदगी किए जाने पर 14 दुकानदारों पर पांच-पांच हजार रुपए का जुर्माना लगाया।

[MORE_ADVERTISE1]