स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कॉम्प्लेक्स निर्माण पर लाखों खर्च लेकिन महिला प्रसाधन की कोई व्यवस्था नहीं

Narendra Kushwah

Publish: Oct 17, 2019 13:15 PM | Updated: Oct 17, 2019 13:15 PM

Guna

सराफा बाजार, नई सड़क क्षेत्र में नहीं है कोई महिला प्रसाधन
महिला दुकानदार से लेकर ग्राहक भी होते हैं परेशान

गुना. सरकार एक तरफ जहां गुना शहर को मिनी स्मार्ट सिटी बनाने की घोषणा कर चुकी है। यही नहीं इस प्रोजेक्ट के तहत नए निर्माण कार्यों पर करोड़ों रुपए का बजट भी खर्च किया जा रहा है। नगर पालिका शहर के कई इलाकों में शॉपिंग कॉम्प्लेक्स निर्माण पर लाखों रुपए खर्च कर चुकी है लेकिन पूरे शहर में कहीं भी महिलाओं के लिए सुलभ प्रसाधन नहीं बनाए गए हैं। जिससे न सिर्फ महिला दुकानदार परेशान हैं बल्कि यहां आने वाली महिला ग्राहकों को भी इस गंभीर समस्या का सामना करना पड़ रहा है।


जानकारी के मुताबिक शहर के सराफा बाजार, हनुमान गली, अनुराधा गली, सदर बाजार, लक्ष्मीगंज, हाट रोड, निचला बाजार, बोहरा मस्जिद क्षेत्र में दर्जनों शॉपिंग कॉम्प्लैक्स हैं। लेकिन इन इलाकों में एक भी जगह महिला प्रसाधन उपलब्ध नहीं है। ऐसे में महिला दुकानदारों को तो टॉयलेट के लिए घर ही जाना पड़ता है। वहीं ग्राहकों के समक्ष यह समस्या ज्यादा गंभीर हो जाती है।

कहां गए बायो टॉयलेट
शहर में कई ऐसे इलाके हैं जहां सुलभ शौचालय नहीं हैं। ऐसे स्थानों पर नगर पालिका जरुरत के समय बायो टॉयलेट रखवाती है। दीपावली त्यौहार के चलते इन दिनों शहर के बाजार में ग्राहकों की बहुत भीड़ है। ऐसे में नगर पालिका को भीड़ वाले इलाकों में बायोटॉयलेट रखवाना चाहिए लेकिन अभी तक ऐसा नहीं किया गया है।

मैं त्यौहार के दौरान ही बाजार में हाथ ठेले पर महिलाओं से जुड़ी चीजों को बेचती हूं। पिछले काफी समय से बाजार के अलग अलग इलाकों में ठेला लगाती हूं, लेकिन कहीं भी महिलाओं के लिए सुलभ प्रसाधन की व्यवस्था नहीं है।
शीतल, दुकानदार

सराफा बाजार में मेरी दुकान सबसे पुरानी है। दुकान पर भी ज्यादा समय मैं ही बैठती हूं। बाजार में महिलाओं के लिए सुलभ प्रसाधन का न होना बेहद गंभीर समस्या है। इस ओर नगर पालिका व प्रशासन को जरूर ध्यान देना चाहिए।
सुधा, दुकानदार

शहर में दिनों दिन बाजार बढ़ता जा रहा है। घनी आबादी वाले क्षेत्र में भी शॉपिंग कॉम्प्लैक्स बनाए जा रहे हैं लेकिन यहां सुलभ प्रसाधन की कोई व्यवस्था नहीं की जा रही है। जिससे सबसे ज्यादा परेशान महिला दुकानदार व ग्राहकों को आ रही है। इस ओर प्रशासन को गंभीरता से ध्यान देना चाहिए।
बिंदु, गृहणी