स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

street lights : स्ट्रीट लाइट पर हर माह खर्च हो रहे है लाखों रुपए, फिर भी सड़कों पर रहता है अंधेरा

Narendra Kushwah

Publish: Aug 12, 2019 14:00 PM | Updated: Aug 12, 2019 14:00 PM

Guna

पत्रिका ग्राउंड रिपोर्ट :
शहर की कई कॉलोनियों में स्ट्रीट लाइट ही नहीं
बारिश के समय में लोगों को अधिक होती है परेशानी

गुना। नगर पालिका प्रशासन municipal administration नागरिकों से करोड़ों रुपए टैक्स तो वसूल रहा है लेकिन बदले में जरूरी सुविधाएं नहीं दे रहा है। जिसके अभाव में नागरिक परेशान हो रहे हैंं। लेकिन उनकी सुनवाई न तो वार्ड पार्षद कर रहे हैं और न ही नपा के जिम्मेदार officers अधिकारी। यहां बता दें कि इन दिनों वार्डवासी सफाई व्यवस्था के अतिरिक्त स्ट्रीट लाइट street lights की गंभीर समस्या से जूझ रहे हैें।

 

नगर में कई वार्ड ऐसे हैं जहां स्ट्रीट लाइट लगी ही नहीं है तो वहीं कुछ वार्डों में स्ट्रीट लाइट शोपीस बनकर रह गई हैं। यह स्थिति भी तब है जब नगर पालिका स्ट्रीट लाइट के नाम पर हर साल करोड़ों रुपए का बिल भर रही है। इसके बावजूद वार्ड की कॉलोनी व गलियों में अंधेरा पसरा हुआ है।

 

स्ट्रीट लाइट तो हैं लेकिन जलती नहीं
नगर में कुल 37 वार्ड हैं। इनमें कई कॉलोनियां ऐसी हैं जो मुख्य बाजार से काफी दूर हैं। इन कॉलोनियों में रहने वाले कई लोग शाम को नौकरी कर जब अपने घर जाते हैं तो उन्हें रास्ते में अंधेरा मिलता है। क्योंकि खंभे पर स्ट्रीट लाइट तो लगी हैं लेकिन वे जलती नहीं हैं। क्योंकि जिम्मेदार अधिकारी इन स्ट्रीट लाइट को न तो ठीक करवा रहे हैं और न ही बदलवा रहे हैं।


इन क्षेत्रों में है स्ट्रीट लाइट की दरकार
श्रीराम कॉलोनी, मालपुर रोड स्थित साईं सिटी कॉलोनी, बीजी रोड बायपास, पिपरौदा रोड, घोसीपुरा से रेलवे स्टेशन मार्ग, सकतपुर रोड, भगत सिंह कॉलोनी, विवेक कॉलोनी आदि।


दुर्घटनाओं से बचाने स्ट्रीट लाइट जरूरी
बारिश की वजह से नगर के कई इलाकों में सड़कें उखड़ चुकी हैं। गलियों में सीवर चैंबर के ढक्कन खुले पड़े हैं। रास्ते में पडऩे वाले पुल पुलियों पर रैलिंग तथा बाउंड्री वॉल नही है। ऐसे में रात के समय अपने घर जाने वाले लोगों को हमेशा दुर्घटना का खतरा बना रहता है। इसके अलावा रिहायशी इलाकों में अंधेरा होने की वजह से असमाजिक तत्वों व चोरों का हमेशा डर बना रहता है।

यह बोले वार्डवासी
मैं काफी समय से भगत सिंह कालोनी में रह रहा हूूंं। हमारे क्षेत्र में स्ट्रीट लाइट नहीं है। मैं जब ऑफिस से काम कर घर जाता हूं तो रास्ते में काफी अंधेरा रहता है।
गौरव रघुवंशी, वार्डवासी


मेरी दुकान कर्नलगंज में है जबकि घर पिपरोदा रोड पर पुल से पहले ही पड़ता है। जो नगरीय इलाके में आता है। लेकिन नपा ने इस मार्ग पर स्ट्रीट लाइट नहीं लगवाई है। आधे रास्ते में खंभों पर स्ट्रीट लाइट है लेकिन जलती नहीं है।
हरिराम सिंह, वार्डवासी