स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

ब्लड टेस्ट कराने एक सैकड़ा महिलाओं को करना पड़ा घंटों इंतजार

Narendra Kushwah

Publish: Nov 17, 2019 12:24 PM | Updated: Nov 17, 2019 12:24 PM

Guna

जिला अस्पताल का कुप्रबंधन
ड्यूटी को लेकर डॉक्टर व स्टाफ में होती रही बहस

गुना. जिला अस्पताल में शुक्रवार को ब्लड बैंक के सामने जो नजारा देखने को मिला उसे जिसने भी देखा वह देखते ही रह गया। उसके मुंह से सिर्फ एक ही बात सुनने को मिली कि भाई ! आज ब्लड बैंक के बाहर महिलाओं की इतनी ज्यादा भीड़ क्यों है ?

जब इस बारे में लाइन में खड़ी महिलाओं से पूछा गया तो उन्होंने बताया कि वे यहां खून की जांच कराने आई हेैं। लाइन में खड़ी महिलाओं की संख्या आधा सैकड़ा से अधिक थी। जिसे देखकर हर व्यक्ति को मतदान वाला दिन याद आ रहा था। क्योंकि इतनी लंबी लाइन ग्रामीण क्षेत्रों में मतदान वाले दिन ही देखने को मिलती है।


जानकारी के मुताबिक जिला अस्पताल के डीईआईसी भवन में प्रति मंगलवार व शुक्रवार को गर्भवती महिलाओं की सभी जरूरी जांचें की जाती हैं। इस दौरान शहर सहित गुना विकासखंड क्षेत्र की महिलाएं यहां आती हंै। लेकिन इस बार मंगलवार को गुरु नानक देव की जयंती का अवकाश होने की वजह से महिलाओं की जांच नहीं हो सकी।

यही कारण रहा कि शुक्रवार को एएनसी (प्रसव पूर्व जांच) क्लीनिक में एक सैकड़ा से अधिक महिलाएं एकत्रित हो गईं। हमेशा की तरह इस दिन भी एएनसी क्लीनिक का स्टाफ देरी से पहुंचा। जैसे तैसे गर्भवती महिलाओं का स्टाफ ने चैकअप किया और सभी महिलाओं को ब्लड टेस्ट लिख दिया गया। इसके बाद ब्लड बैंक के बाहर आधा सैकड़ा से अधिक महिलाओं की लंबी कतार लग गई।

कुछ महिलाएं आधा घंटे तक खड़ी रहने के बाद थक हार कर नीचे बैठ गई। यहां बता दें कि आधा सैकड़ा से अधिक महिलाओं की जांच के लिए ब्लड बैंक में मात्र एक टेक्नीशियन व एक सहयोगी ही मौजूद थी। उक्त स्टाफ ब्लड कलेक्शन लेने के वजाए इतमिनान से कागजी कार्रवाई में व्यस्त था।

इसी दौरान महिलाओं की लंबी कतार देख ब्लड बैंक प्रभारी डॉ पीएन धाकड़, डॉ आरएस राजपूत व डॉ वीरेंद्र सिंह रघुवंशी मौके पर आए और उन्होंने वहां मौजूद स्टाफ से जब अन्य कर्मचारियों की जानकारी ली तो सामने आया कि जिस महिला कर्मचारी की यहां ड्यूटी लगाई गई थी वह अधूरा काम छोड़ चली गई है।

जिसे बाद में बुलाया गया और अनुपस्थित रहने का कारण पूछा तो उक्त कर्मचारी और डॉक्टर्स में काफी देर तक बहस होती रही। एक कर्मचारी दूसरे कर्मचारी पर कामचोरी का आरोप लगाते रहे। उधर घंटों लाइन में खड़ी गर्भवती महिलाएं यह पूरा नजारा देखती रहीं। इस पूरी घटना के दौरान यह भी सामने आया कि ब्लड बैंक में पदस्थ दो टेक्नीशियन की राघौगढ़ में आयोजित कैंप में ड्यूटी लगा दी गई।

इस तरह की व्यवस्था से डॉक्टर काफी नाराज दिखे। आखिर में मौजूदा स्टाफ को ही निर्देशित किया गया कि वे सभी महिलाओं की जांच करने के बाद ही जाएगा। कुल मिलाकर अस्पताल कुप्रबंन की वजह से महिलाओं को शाम 4 बजे तक जांच कराने के लिए लाइन में खड़े रहना पड़ा।

यह बोले जिम्मेदार
मंगलवार को अवकाश होने की वजह से शुक्रवार को महिलाओं की भीड़ बढ़ गई। वहीं ब्लड बैंक के दो टेक्नीशियन की ड्यूटी अन्य कैंप में लगाने की वजह से आज यह परेशानी आई है।
- डॉ पीएन धाकड़, आरएमओ जिला अस्पताल गुना

[MORE_ADVERTISE1]