स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

खुद को फाइनेंस कंपनी का अधिकारी बताकर उपभोक्ता से हड़पे 17 हजार रुपए

Deepesh Tiwari

Publish: Nov 16, 2019 14:17 PM | Updated: Nov 16, 2019 14:17 PM

Guna

साइबर सेल की मदद से आरोपी को किया गिरफ्तार...

गुना। तकनीक ने जहां उपभोक्ता का काम आसान बनाया है तो वहीं जरा सी लापरवाही नुकसान भी पहुंचा रही है। इस कारण ऑनलाइन ठगी की घटनाएं बढ़ गई हैं। ताजा मामला कैंट थाना क्षेत्र के हवाई पट्टी निवासी कमल कुमार वर्मा के साथ सामने आया है।

आरोपी ने एक फाइनेंस कंपनी का अधिकारी बनकर खाते से 17125 रुपए पार कर दिए। पुलिस के अनुसार आरोपी को पकड़वाने में साइबर सेल प्रभारी मसीह खान के अलावा एसआई रविनंदन शर्मा, योगेश शर्मा, कौरव, कुलदीप भदौरिया, माखन चौधरी, भूपेंद्र खटीक की भूमिका रही।

दरअसल, कमल कुमार वर्मा ने 21 जून को कैंट थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई। जिसमें बताया गया कि मेरे द्वारा बजाज फाइनेंस कंपनी से एक लैपटॉप फाइनेंस कराया था। जिसकी किस्त भी पूरी हो गई थी। इसी तारतम्य में उसके पास फोन आया कि तुम्हारी किस्त पूरी हो गईं हैं एनओसी ले लेना है।

[MORE_ADVERTISE1]

जिस पर मैंने कहा कि ऑफिस आकर ले लूंगा लेकिन उसने मुझे फोन होल्ड पर रखने के लिए कहा। थोड़ी ही देर में मेरे मोबाइल पर ओटीपी आया, जिसे आरोपी ने पूछ लिया। इसके बाद मेरे खाते से 17125 रुपए कट गए।

एसपी राहुल कुमारा लोढ़ा के निर्देश पर जब साइबर सेल प्रभारी मसीह खान व कंैट थाना प्रभारी मदन मोहन मालवीय ने पूरे मामले की पड़ताल करते हुए पीटीएम गेटवे से जानकारी प्राप्त की तो सामने आया कि आरोपी ने उक्त राशि अलग अलग खातों में ट्रांसफर करवाई है।

इन खाता धारकों की जानकारी जुटाई तो सबसे पहला नाम सुरेश पुत्र इंद्रेव गोस्वामी देवधर झारखंड का सामने आया। ट्रांजेक्शन डिटेल्स से सामने आए आरोपी को पकडऩे एसपी ने टीम झारखंड, दमन तथा गुजरात भेजी। जहां टीम के सदस्यों ने आरोपी सुशेख गोस्वामी को दमन गुजरात से पकड़ लिया और उसे अभिरक्षा में लेकर कैंट थाना लाए।

यहां पूछताछ करने पर आरोपी ने बताया कि वह झारखंड के ग्राम धमना थाना चित्रा जिला देवधर का रहने वाला है। उसके कुछ साथी फोन कर दूसरों के बैंक एवं एटीएम कार्ड की जानकारी प्राप्त कर मेरे खाते में पैसा ट्रांसफर कर देते हैं।

[MORE_ADVERTISE2]

फाइनेंस कंपनी से हुआ डेटा लीक
एसपी राहुल कुमार लोढ़ा ने बताया कि कैंट थाना क्षेत्र के जिस उपभोक्ता के साथ ऑनलाइन ठगी का मामला सामने आया है। इसमें इस बार आरोपी बैंक अधिकारी न बन फाइनेंस कंपनी का अधिकारी बन उपभोक्ता को फोन लगाया है।

जिसमें उसने उपभोक्ता को इनाम की राशि जीतने का लालच देकर ओटीपी व बैंक डिटेल्स लेकर 17125 की राशि दूसरे खाते में ट्रांसफर करवा दी।

मामले की पड़ताल में सामने आया है कि आरोपी को उपभोक्ता का नंबर व अन्य जानकारी फाइनेंस कंपनी से जुड़े किसी व्यक्ति से मिली है। आरोपी सुरेश गोस्वामी ने एक और अरविंद नामक व्यक्ति के शामिल होने की बात कही है। जिसे पुलिस तलाश रही है।

[MORE_ADVERTISE3]