स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

भवन स्वामियों से करोड़ों रुपए विकास शुल्क जमा कराने के बाद सुविधाएं नहीं दे रही नपा

Narendra Kushwah

Publish: Sep 12, 2019 15:50 PM | Updated: Sep 12, 2019 15:50 PM

Guna

पत्रिका ग्राउंड रिपोर्ट :
भवन स्वामियों से करोड़ों रुपए विकास शुल्क जमा कराने के बाद सुविधाएं नहीं दे रही नपा
नालियां व सड़क न बनने से गंदगी के बीच रहने को मजबूर लोग
रुके पानी में पनप रहे मच्छर, बच्चों का घरों से बाहर निकलना भी हुआ दूभर

गुना। नगर पालिका हर साल प्रत्येक भवन स्वामी व कॉलोनाइजर से विकास शुल्क के रूप में करोड़ों रुपए टैक्स वसूल रही है। लेकिन इसके बदले में वार्डों में मूलभूत सुविधाएं मुहैया नहीं करा रही है। जिसके अभाव में जनता परेशान हो रही है। वार्ड पार्षद से लेकर नगर पालिका के जिम्मेदार अधिकारी जनता की सुनवाई नहीं कर रहे हैं। ऐसे में जनता अपने आपको ठगासा महसूस कर रही है।


सबसे पहली जरूरत जल निकासी के प्रबंध हो
हम बात कर रहे हैं शहर के वार्ड क्रमांक 37 की। जो एबी रोड किनारे स्थित है तथा इस वार्ड आलीशान मकानों के अलावा होटल भी हैं। जिसके लिहाज से यह वार्ड पॉश कॉलोनी की श्रेणी में तो आता है। लेकिन रहने के लिए जरूरी सुविधाओं का अभाव है। किसी भी वार्ड के विकास में सबसे पहली जरूरत जल निकासी के प्रबंध हैं।

भवन स्वामियों से करोड़ों रुपए विकास शुल्क जमा कराने के बाद सुविधाएं नहीं दे रही नपा

बड़ी समस्या सीसी सड़क का अभाव
लेकिन वार्ड 37 में ऐसी कोई भी व्यवस्था नहीं है। नालियों के अभाव में घरों से निकला गंदा पानी व बारिश का पानी घरों के सामने ही बड़ी मात्रा में जमा हो रहा है। जिससे न सिर्फ मच्छर पनप रहे हैं बल्कि छोटे छोटे बच्चे तो अपने घरों से बाहर ही नहीं निकल पाते हैं। दूसरी सबसे बड़ी समस्या सीसी सड़क का अभाव है।

 

स्वयं के व्यय पर लाल मुरम डलवा ली
वार्ड की अधिकांश गलियों में सीसी सड़क नहीं है। लोगों ने अपनी-अपनी परेशानी दूर करने स्वयं के व्यय पर लाल मुरम डलवा ली है लेकिन मुख्य मार्गों का बुरा हाल है। वार्ड के प्रवेश मार्ग की ही हालत इतनी बुरी है कि पैदल राहगीर तो दलदलनुमा व कीचडय़ुक्त मार्ग से होकर आसानी से आगे जा ही नहीं सकता।

भवन स्वामियों से करोड़ों रुपए विकास शुल्क जमा कराने के बाद सुविधाएं नहीं दे रही नपा


भारी वाहनों की आवााजही से क्षतिग्रस्त हुए मार्ग
वार्ड क्रमांक 37 एबी रोड से लगा हुआ है। इसलिए कई घनाढ्य लोगों ने रोड सड़क किनारे व वार्ड के अंदर आलीशान होटल व मैरिज हॉल भी बना लिए हैं। जिसके चलते वार्ड के कच्चे मार्गों से होकर भारी वाहन भी आते हैं। जिसकी वजह से यह कच्चे मार्ग भी और अधिक क्षतिग्रस्त हो गए है।


बीमारियां फैलने की सबसे ज्यादा संभावना
वार्ड 37 में नालियां न होने के कारण सबसे ज्यादा जल भराव की स्थिति है। शायद ही ऐसा कोई घर हो जिसके आसपास गंदा पानी लंबे समय से जमा न हो। यही वजह है कि इस कॉलोनी में बीमारियां फैलने की सबसे ज्यादा संभावनाए हैं।


वार्ड की गलियों में जलभराव से बहुत बुरे हालात हैं। नालियां न होने के कारण पानी एक ही जगह पर एकत्रित हो रहा है इसलिए बड़ी संख्या में मच्छर पनप रहे हैं। स्थिति यह है कि बच्चे घर के बाहर तक नहीं निकल पा रहे।
राकेश केवट, वार्डवासी


वार्ड के प्रवेश मार्ग की ही हालत बहुत खराब है। कई स्थानों पर इतने गहरे गड्ढे हैं कि वाहन लेकर निकलना बहुत मुश्किल होता है। कई बार बाहरी लोग तो इस रास्ते से निकलते समय चोटिल भी हो जाते हैं।
गौरव शर्मा, वार्डवासी


वार्ड में नाली व सड़क न बनाए जाने की शिकायत पार्षद से लेकर नपा के अधिकारियों से कर चुके हैं लेकिन कोई इस ओर ध्यान नहीं देता है।
नंदा यादव, वार्डवासी