स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

दर्दनाक हादसा: ऑटो से इलाज कराने अस्पताल ले जा रहे पिता की मौत

Narendra Kushwah

Publish: Nov 12, 2019 15:26 PM | Updated: Nov 12, 2019 15:26 PM

Guna

- बेटा व उसकी पत्नी सहित ऑटो चालक घायल
- ट्रक के पीछे से अचानक आई बाइक सवार को बचाने के चक्कर में हुआ एक्सीडेंट
- अनियंत्रित ऑटो सड़क से उतरकर पेड़ से टकराई

गुना. बजरंगगढ़ से गुना जा रही सवारियों से भरी एक ऑटो सामने से आ रहे बाइक सवार को बचाने के फेर में सड़क किनारे पेड़ से टकरा गई। जिससे एक की मौत हो गई जबकि तीन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। जिन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बताया जाता है कि जिस व्यक्ति की मौत हुई है उसका इलाज कराने बेटा व बहू उसे ऑटो से जिला अस्पताल ले जा रहे थे, तभी यह हादसा रास्ते में हनुमानजी के मंदिर के पास हुआ।

घायल जसरथ अहिरवार ने बताया कि वह बजरंगगढ़ थाना क्षेत्र के ग्राम करोंदिया का रहने वाला है। वह अपने पिता फट्टू का इलाज कराने अपनी पत्नी के साथ ऑटो में बैठकर जिला अस्पताल के लिए जा रहा था तभी रास्ते में पडऩे वाले हनुमानजी के मंदिर के पास गुना की ओर से आ रहे एक ट्रक के पीछे से तेज रफ्तार बाइक सवार आया जिसे ऑटो चालक धर्मेंद्र सुमन ने बचाने का प्रयास किया तो ऑटो अनियंत्रित होकर सड़क किनारे पेड़ से टकरा गया।

दुर्घटना इतनी भीषण थी कि पिता फट्टू की घटना स्थल पर ही मौत हो गई जबकि जसरथ व उसकी पत्नी ज्योति व ऑटो चालक धर्मेंद्र बुरी तरह से घायल हो गया। फिलहाल पुलिस ने मामला विवेचना में ले लिया है।

इधर, महिला एसपी से बोली: साहब ! फतेहगढ़ थाना पुलिस मेरे पति को कर रही वेवजह परेशान
वहीं एक दूसरे मामले में साहब ! फतेहगढ़ थाना पुलिस मेरे पति बहादुर बारेला को वेवजह परेशान कर रही है। जबकि वे खुद अपने बेटे को थाने ले जाकर पुलिस के हवाले कर आए थे। वहां से उनका बेटा पुलिस के अनुसार भाग गया या पुलिस वालों ने उसके साथ कोई घटना कर दी। यह शिकायत वावली बाई ने लिखित रूप में एसपी राहुल कुमार लोढ़ा से की है।

जिसमें बताया गया है कि उसका पुत्र नानूराम बारेला ने करारखेड़ा में कोई अपराध किया था। जिसके बाद उसके पति अपने बेटे को फतेहगढ़ पुलिस के सुपुर्द कर आए थे। इसके बाद बेटे का कोई पता नहीं है कहां चला गया। पुलिस ने मेरे पति बहादुर बारेला को दिवाली के दूसरे दिन से अकारण थाने में बिठा रखा है। महिला का कहना है कि वह शिवपुरी जिले की बदरवास तहसील के ग्राम नैनागिर की रहने वाली है। इसलिए उसके पति को फतेहगढ़ थाना पुलिस के चंगुल से मुक्त कराया जाए।

यह बोले जिम्मेदार
नानूराम बारेला 376 के मामले में आरोपी है, जो न्यायालय ले जाते समय पुलिस गाड़ी से फरार हो गया है। इस संबंध में पूछताछ के लिए उसके पिता को थाने बुलाया था। जिन्हें पूछताछ के बाद छोड़ दिया है। पुलिस पर जो आरोप लगाए जा रहे हैं वे गलत हैं।
- गजेंद्र बुंदेला, थाना प्रभारी फतेहगढ़

[MORE_ADVERTISE1]