स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

यह कैसी पॉश कॉलोनी, सड़कें खुदी हुईं और नालियों से भी बह रही गंदगी

Narendra Kushwah

Publish: Nov 19, 2019 12:06 PM | Updated: Nov 19, 2019 12:06 PM

Guna

- जनता से लाखों रुपए विकास शुल्क वसूलने वाली नपा नहीं दे रही ध्यान
- रिहायशी क्षेत्र में मैरिज गार्डन बने मुसीबत
- धूल से बचने हर दिन छिड़कते हैं पानी
- सफाई व्यवस्था में भी सीमा विवाद

गुना. शहर की जनता से विकास शुल्क के नाम पर लाखों रुपए का टैक्स वसूलने वाली नगर पालिका वार्ड विकास पर बिल्कुल भी ध्यान नहीं दे रही है।

यही कारण है कि आज भी शहर की अधिकांश पॉश कॉलोनी में रहने वाले लोग मूलभूत सुविधाओं से जूझ रहे हैं। इन कॉलोनी में न तो चलने के लिए सुगम सड़कें हैं और न ही जल निकासी के लिए नालियां बनाई गई हैं। समस्याओं से परेशान नागरिकों में नपा के जनप्रतिनिधि व अधिकारियों के प्रति काफी नाराजगी है।


जानकारी के मुताबिक शहर की पॉश कॉलोनियों में से एक है सोनी कॉलोनी। जहां अधिकांशत: धनाढ्य वर्ग के लोग निवास करते हैं। जिन्होंने अपने निजी खर्च पर भवन तो आलीशान बना लिए हैं लेकिन कॉलोनी में न तो चलने के लिए अच्छी सड़के हैं और न ही घरों से निकलने वाले गंदे पानी के उचित निकासी के लिए नालियां बनाई गई हैं।

जिसके कारण घरों का गंदा पानी आम रास्ते व खाली पड़े प्लॉटों मेें एकत्रित हो रहा है। जिससे क्षेत्र में गंदगी व बदबू फैल रही है। कॉलोनीवासी अपने घर के बाहर न तो खड़े हो पाते हैं और न ही बच्चे खेल पा रहे हैं।

रिहायशी क्षेत्र में मैरिज गार्डन बने मुसीबत
शहर की पॉश कॉलोनियों में शुमार सोनी कॉलोनी में कुछ लोगों ने मैरिज गार्डन बना लिए हैं, जो वार्डवासियों के लिए खासी परेशानी बने हुए हैं। क्योंकि एक तरफ जहां मैरिज गार्डन होने की वजह से कॉलोनी की गलियों में दो व चार पहिया वाहनों का ट्रेफिक बढ़ जाता है।

जिससे कई बार हादसे की स्थिति भी निर्मित हो जाती है। वहीं दूसरी परेशानी मैरिज गार्डन से निकलने वाला वेस्ट मटेरियल है। जिसके कारण पूरे इलाके में हर समय दुर्गंध आती रहती है।

मैरिज गार्डन के आसपास रहने वाले लोग लगातार दुर्गंध सूंघने से बीमार पड़ रहे हैं। साथ ही मैरिज गार्डन में जब भी कोई कार्यक्रम होता है तो लोगों को देर रात ध्वनि प्रदूषण का भी सामना करना पड़ता है। कॉलोनीवासियों का कहना है कि प्रशासन को नागरिकों की इस समस्या की ओर ध्यान देना चाहिए।

[MORE_ADVERTISE1]यह कैसी पॉश कॉलोनी,  सड़कें खुदी हुईं और नालियों से भी बह रही गंदगी[MORE_ADVERTISE2]

धूल से बचने हर दिन छिड़कते हैं पानी
वार्डवासियों ने बताया कि नपा ने उनकी कॉलोनी में काफी समय पहले सीसी सड़क डलवाई थी जो वर्तमान में पूरी तरह से उखड़ चुकी है। वार्ड की हर गली में गहरे व काफी चौड़े गड्ढे हो गए हंै।

सीमेंट पूरी तरह से उखड़ चुका है। ऐसे में जब भी दो पहिया या चार पहिया वाहन निकलते हैं तो पूरी गली में धूल के गुबार उडऩे लगते हैं।

इस धूल से उनके मकान तो गंदे हो ही रहे हंै। वहीं घर का दरवाजा खोल कर नहीं रख सकते और न ही अपने घर के बाहर कुर्सी डालकर बैठ पाते हैं।

वार्डवासी देवेंद्र किरार ने अपनी पीड़ा सुनाते हुए बताया कि उन्होंने इस कॉलोनी में मकान बनाते समय यह नहीं सोचा था कि इस वार्ड की हालत आगे चलकर इस तरह की हो जाएगी। यहां न तो चलने के लिए ठीक ठाक सड़क हैं और न ही नालियां। खुदी सड़कों से 24 घंटे धूल उड़ती रहती है।

वार्ड में निजी स्कूल व मैरिज गार्डन होने की वजह से दिन और रात ट्रेफिक बना रहता है। सड़कों से लगातार उड़ती धूल ने लोगों को अस्थमा का रोगी बना दिया है।
-
सफाई व्यवस्था में भी सीमा विवाद
सोनी कॉलोनी निवासी सुजाता शर्मा ने बताया कि उनके वार्ड में ठीक ढंग से सफाई न होने का एक कारण सीमा विवाद भी है। क्योंकि वार्ड कई गलियां दूसरे वार्ड में आती हैं जबकि घर अन्य वार्ड में। सफाई कर्मियों से जब झाडू न लगाने का कारण पूछा जाता है तो वे उक्त क्षेत्र को दूसरे सफाईकर्मी की सीमा बता देते हैं।
-
नागरिकों की परेशानी उनकी जुबानी
धनाढ्य लोगों द्वारा बनाए गए आलीशान भवनों को देखकर भले ही इसे पॉश कॉलोनी कहें लेकिन सुविधाओं के मामले में इस वार्ड की स्थिति ज्यादा ठीक नहीं है।
सनी शर्मा, वार्डवासी
-
वार्ड की सबसे बड़ी समस्या उचित जल निकासी न होना है। जिसके अभाव में लोगों के घरों की नालियां तक चौक हो गई हैं। घर के बाहर खाली पड़ी जगह में लगातार गंदा पानी जमा हो रहा है।
कैलाशचंद जैन, वार्डवासी
-
यह बोले जिम्मेदार
हां यह बात सही है कि मेरे वार्ड में सड़क व नालियों की स्थिति ठीक नहीं है। जिसके निर्माण के लिए हाल ही में टेंडर लगाया गया था लेकिन वह केंसिल हो गया। नया टैेंडर लगते ही निर्माण कराया जाएगा।
आशा बाई धाकड़, पार्षद

[MORE_ADVERTISE3]