स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

इराक में सरकार विरोधी प्रदर्शन में 11 की मौत, पीएम ने राजधानी बगदाद में लगाया कर्फ्यू

Anil Kumar

Publish: Oct 03, 2019 20:43 PM | Updated: Oct 03, 2019 20:43 PM

Gulf

  • इराक सरकार के खिलाफ लोग भ्रष्टाचार और बेरोजगारी को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं
  • संयुक्त राष्ट्र ने इराक में हो रहे प्रदर्शन के दौरान मारे गए लोगों के लिए अफसोस जताया

बगदाद। इराक में सरकार के खिलाफ लगातार विरोध-प्रदर्शन का दौर जारी है। इसी क्रम में इराक के दक्षिणी शहरों में सरकार के खिलाफ प्रदर्शन में एक पुलिसकर्मी समेत 11 लोगों की मौत हो गई, जबकि कई लोग घायल हो गए।

सरकार के खिलाफ बढ़ते प्रदर्शन को देखते हुए प्रधानमंत्री अदेल अब्दुल महदी ने बगदाद की राजधानी में कर्फ्यू की घोषणा कर दी है।

इराक के द्वीप पर US वायुसेना का हमला, ISIS के ठिकानों पर गिराया 36 हजार किलो लेजर गाइडेड बम

बताया जा रहा है कि लोगों का यह प्रदर्शन सरकार की नीतियों के खिलाफ था, जिसके कारण इराकियों के रोजमर्रा की जिन्दंगी प्रभावित हो रही है। लोग देश में व्याप्त भ्रष्टाचार और बेरोजगारी जैसे प्रमुख मुद्दों को लेकर प्रदर्शन कर रहे थे।

बता दें कि बीते दिन बुधवार को प्रदर्शन के दौरान कम से कम दो लोगों की मौत हो गई थी। ग्रीन जोन की ओर बढ़ते प्रदर्शनकारियों पर सरक्षाबलों ने आंसू गैस के गोले दागे और उनपर गोलियां चलाईं।

करीब 1000 की संख्या में प्रदर्शनकारी बगदाद स्थित एक चौक में एकत्रित हुए थे। प्रदर्शनकारियों ने नसीरिया, दिवानियाह, और बसरा शहरों में भी विरोध प्रदर्शन किया।

iraq.jpg

UN ने लोगों से की अपील

आपको बता दें कि इराक में लगातार बढ़ते हिंसक प्रदर्शनों को देखते हुए संयुक्त राष्ट्र ने लोगों से संयम बरतने की अपील की है। यूएन असिस्टेंस मिशन फॉर इराक (UNAMI) की ओर से एक बयान जारी किया है जिसमें संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरस के विशेष प्रतिनिधि जीनिन हेंसा-प्लास्चर्ट ने शांति बरतने के लिए कहा है।

अमरीका-इराक की सेना ने किया IS के ठिकानों पर एयरस्ट्राइक, चार ठिकाने किए तबाह, आठ आतंकी ढेर

इस दौरान उन्होंने दोनों पक्षों की ओर से मारे गए लोगों के लिए अफसोस जताया। हेंस प्लास्चर्ट ने इराकी अधिकारियों से कहा कि वे शहर में कानून और व्यवस्था को बनाए रखें, साथ ही लोगों की व सार्वजनिक संपत्तियों की सुरक्षा सुनिश्चित करें।

उन्होंने यह भी कहा कि कानून को ध्यान में रखते हुए हर किसी को अपनी बात कहने की आजादी है, वह अपनी बात रखने के लिए स्वतंत्र है और उनसे उनका अधिकार कोई नहीं छीन सकता है।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर. विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.