स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कुशीनगर की बहुचर्चित मैत्रेय परियोजना की एमओयू निरस्त

Dheerendra Vikramadittya

Publish: Nov 11, 2019 16:26 PM | Updated: Nov 11, 2019 16:26 PM

Gorakhpur

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में कैबिनेट का निर्णय

 

गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे के निर्माणकर्ताओं को दी गई मंजूरी

कुशीनगर की मैत्रेय परियोजना के एमओयू को निरस्त कर दिया गया है। अब सरकार इसे विकसित कराएगी। इसके अलावा रखपुर लिंक एक्सप्रेस के निर्माण के लिये निर्माणकर्ताओं के चयन के प्रस्ताव को मंजूर कर लिया गया है।

योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में यह निर्णय लिया गया है।

बैठक में कुशीनगर में मैत्रेय ट्रस्ट के साथ विकास योजना के एमओयू को निरस्त किया गया। 2003 में हुए समझौते को 2014 में संशोधन किया गया। 195 एकड़ जमीन दी गई थी। इस परियोजना के तहत कसया तहसील में 180 एकड़ खरीदी गई और 16 एकड़ ग्राम समाज की दी गई। 2017 तक कोई काम नहीं हुआ। लगातार नोटिस देने के बाद भी उन्होंने ना डीपीआर दिया और ना ही वित्त की व्यवस्था कैसे होगी यह बताया। अब पर्यटन विभाग इसको विकसित करेगा। बुद्ध प्रतिमा, ध्यान केंद्र, जलाशय आदि विकसित किए जाएंगे।

नगर निगम गोरखपुर का नया आफिस बनेगा

गोरखपुर गेस्ट हाउस के सामने 1500 वर्ग मीटर में नगर निगम का नया भवन बनेगा। जिसकी लागत 23.45 करोड़ रुपये होगी।

दो चरणों मे पूरा होगा लिंक एक्सप्रेसवे

दो चरणों में पूरी होने वाली गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे परियोजना के पहले चरण का एप्को इन्फ्राटेक और दूसरे चरण का निर्माण कार्य दिलीप बिल्डकॉम को दिया गया है।

[MORE_ADVERTISE1]