स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

राज्यपाल आनंदीबेन ने सरकारी योजनाओं में जनभागीदारी की अपील की

Dheerendra Vikramadittya

Publish: Oct 19, 2019 12:07 PM | Updated: Oct 19, 2019 12:07 PM

Gorakhpur


मोबाइल से दूर रहते हुए किताबों की ओर ध्यान देने की ली सलाह

सिद्धार्थ विश्वविद्यालय के दीक्षांत में पहुंची राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने कहा कि छात्रों को कम से कम एक घंटा किताबों को देना चाहिए। मोबाइल छोड़ लाइब्रेरी की शिक्षा अपनाएं। गुरुजन की बताई बातों को न भूले।
दीक्षांत मंच से सरकार की विभिन्न योजनाओं में भागीदारी की अपील करते हुए उन्होंने कहा कि पीएम के स्वच्छ भारत और स्वस्थ्य भारत के सपनों को साकार करना होगा। 2025 तक देश को टीबी मुक्त करने का अभियान चलाया गया है। कहा कि टीबी से प्रभावित बच्चों को हम गोद लेंगे।

Read this also: होमगार्डाें के इस ऐलान से प्रदेश सरकार व पुलिस सकते में, अधिकारियों में हड़कंप

सिद्धार्थ विश्वविद्यालय कपिलवस्तु के तृतीय दीक्षांत को संबोधित करते हुए राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने सामाजिक कुरीतियों पर बात करते हुए कहा कि पहले बाल विवाह के कारण महिला शिक्षा में जो कमी थी, अब उसकी भरपाई हो चुकी हैं। हमारी बेटियां अब हर क्षेत्र में आगे हैं। महिला सशक्तिकरण के लिए सरकार भी पूरा सहयोग दे रही हैं।
उन्होंने कहा कि हर महाविद्यालय एक गांव को जरूर गोद लें, जिससे वहां की स्थिति सुधरे। आंगनबाड़ी केन्दों के कुपोषित बच्चों पर पूरा ध्यान देना होगा। राज्य व केंद्र सरकार ने इसपर पूरा ध्यान दिया है। जबतक बेटियां सशक्त नहीं होंगी भारत कुपोषण मुक्त नहीं होगा। हीमोग्लोबिन टेस्ट बच्चियों का जरूरी है। वजन और लंबाई के संतुलन के लिए भरपूर खुराक भी दी जा रही है।

Read this also: प्रणाम किया, आशीर्वाद लिया फिर कार में लिफ्ट देकर लूट लिया, इस हालत में सड़क किनारे मिले...

डिप्टी सीएम डाॅ.दिनेश शर्मा ने कहा कि यह शिक्षा का वह पड़ाव है जो नए दायित्व का बोध कराता है। इस विश्वविद्यालय ने अति संक्षिप्त समय में अपने ऊंचाइयों को छुआ है। यहां विदेशी भाषाओं को सिखाने का उपक्रम शुरू हो गया है। कहा कि कुछ विषयों के लिए अनुदान आयोग की तरफ से शिक्षकों की नियुक्ति की जाएगी। आने वाले समय में विश्वविद्यालय का विस्तार होगा।
कुलपति डाॅ. सुरेंद्र दुबे ने स्वागत भाषण करते हुए भविष्य की विवि की योजनाओं के बारे में विस्तार से बताया।
दीक्षांत के दौरान कुलाधिपति ने 32 मेधावियों को स्वर्ण पदक देकर प्रोत्साहित किया।

Read this also: लश्कर की गतिविधि, आतंकी देखे जाने जैसी सूचनाओं पर क्या बोले यूपी पुलिस के बड़े अधिकारी