स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

गोरखनाथ मंदिर में सुरक्षा से खिलवाड़ करने वाले आधा दर्जन पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई

Dheerendra Vikramadittya

Publish: Jul 20, 2019 01:40 AM | Updated: Jul 20, 2019 01:40 AM

Gorakhpur

  • एसएसपी ने सिविल पुलिस के एक आरक्षी को किया निलंबित
  • 11 वीं वाहिनी पीएसी सीतापुर (PAC Sitapur) के सेनानायक (PAC Company Commander) को लिखा पत्र
  • पत्र लिखकर पांच पीएसी जवानों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की संस्तुति
  • गोरखनाथ मंदिर( Gorakhnath Mandir) की सुरक्षा का जायजा लेने पहुंचे एसएसपी ने की कार्रवाई

सुप्रसिद्ध गोरखनाथ मंदिर (Gorakhnath Mandir security)) की सुरक्षा में ढिलाई पाए जाने पर कई पुलिसकर्मियों पर कार्रवार्इ हुर्इ है। कार्रवार्इ की जद में आने वालों में पुलिस व पीएसी के जवान (action against Police and PAC) शामिल हैं। गोरखनाथ मंदिर परिसर में यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का निवास भी है। गोरखपुर में प्रवास के दौरान वह यहीं रात्रि विश्राम करते हैं।

यह भी पढ़ें- Video यूपी के इस जिले में पुलिस कप्तान की नर्इ पहल, अब हर महीना मिलेगा बेस्ट ड्राइवर अवार्ड

शुक्रवार की रात में एसएसपी डाॅ.सुनील गुप्ता(SSP Dr. Sunil Gupta) ने गोरखनाथ मंदिर (Gorakhnath Mandir) की सुरक्षा व्यवस्था (security)का जायजा लेने के लिए औचक निरीक्षण (Gorakhnath Mandir security inspection by SSP) किया। रात में किए गए इस निरीक्षण में ड्यूटी कर रहे कई पुलिसकर्मी आश्वस्त होकर लापरवाही बरतते हुए पाए गए। एसएसपी डाॅ.सुनील गुप्ता ने तत्काल लापरवाह पुलिस कर्मियों को निलंबित करने का आदेश दिया। कार्रवाई के क्रम में उन्होंने आरक्षी आदर्श भट्ट को तत्काल प्रभाव से निलंबित करते हुए विभागीय जांच का आदेश दिया।

यह भी पढ़ें- यूपी एसटीएफ की बड़ी कार्रवार्इ, फर्जी डिग्री बांटने वाले गैंग का भंड़़ाफोड़, शिक्षक भर्ती में हो रहा था उपयोग

 

Gorakhnath Mandir

इसके अलावा गोरखनाथ मंदिर की सुरक्षा में लगे 11वीं वाहिनी पीएसी जी-कंपनी सीतापुर (PAC G-Company Sitapur)के आरक्षी (constable) आशीष सिंह, प्रदीप कुमार, त्रिपुरेश राजभर, बृजेश यादव, मुख्य आरक्षी(Head constable) जयराम वर्मा को ड्यूटी के प्रति लापरवाही बरतने पर 11वीं वाहिनी पीएसी सीतापुर के सेनानायक को पत्र लिखकर इनके खिलाफ कठोर अनुशासनात्मक कार्रवाई की संस्तुति की है।

यह भी पढ़ें- अपहृत पति की बरामदगी के लिए पत्नी लगा रही थी थाने में गुहार, पति मिला पत्नी की छोटी बहन के साथ कानपुर में