स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

चित्र उकेर कर नन्हें-मुन्नों ने लोगों को किया डेंगू के प्रति जागरूक

Dheerendra Vikramadittya

Publish: Nov 08, 2019 07:07 AM | Updated: Nov 08, 2019 00:43 AM

Gorakhpur

 

पोस्टर प्रतियोगिता में शालिनी यादव प्रथम, राजलक्ष्मी को द्वितीय पुरस्कार

डेंगू से बचाव के लिए लोगों को जागरूक करने के वास्ते सामाजिक संगठनों के अलावा अन्य संगठन व स्वास्थ्य विभाग लगातार जनसामान्य के बीच गतिविधियों का आयोजन कर रहा है। गुरुवार को विश फाउंडेशन ने शहर के प्रतिष्ठित कार्मल स्कूल में पोस्टर मेकिंग प्रतियोगिता का आयोजन किया।

Read this also: पराली जलाने पर 14 किसानों पर केस, चार गिरफ्तार, दस पर जुर्माना

[MORE_ADVERTISE1]
[MORE_ADVERTISE2]

विश द्वारा जीएसके हेल्थ केयर व स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से आयोजित इस प्रतियोगिता में डेंगू से बचाव के लिए जागरूक करते हुए सुंदर चित्र बनाने के साथ स्लोगन व टिप्पणी लिखे।
इस प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार सातवीं स्टैंडर्ड में पढ़ने वाली शालिनी यादव ने पाया। द्वितीय पुरस्कार इंटरमीडिएट की राजलक्ष्मी तो तृतीय पुरस्कार 11वीं की सानिया खान को मिला। चतुर्थ पुरस्कार छठवीं कक्षा में पढ़ने वाली राशि कन्नौजिया को दिया गया।

[MORE_ADVERTISE3]चित्र उकेर कर नन्हें-मुन्नों ने लोगों को किया डेंगू के प्रति जागरूक

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ एस.के.तिवारी ने छात्राओं को बताया कि डेंगू एक वायरल बुखार है जो एडीज नमक मच्छर के काटने से फैलता है। डेंगू के शुरुआती लक्षणों में रोगी को तेज बुखार रहता है। इसके साथ ही सिरदर्द, कमरदर्द और आंखों में तेज दर्द हो सकता है। इसके अलावा जोड़ों में दर्द, बैचेनी, उल्टियां, लो ब्लड प्रेशर आदि समस्याएं भी हो सकती हैं। उन्होंने बताया कि बचाव इस बीमारी का कारगर उपचार है।

Read this also: पराली जलाने वाले किसानों पर सख्त हुई यूपी सरकार, कमिश्नर ने दिया यह आदेश

चित्र उकेर कर नन्हें-मुन्नों ने लोगों को किया डेंगू के प्रति जागरूक

उन्होंने बताया कि बचाव के लिए घर में या आसपास पानी जमा न होने दें। डेंगू फैलाने वाला मच्छर ठहरे हुए साफ पानी में पनपता है। कूलर, फ्रिज के पीछे की ट्रे, पक्षियों के पानी पीनें का बर्तन, फूलदान, टूटे हुए बर्तन, टायर इत्यादि में पानी एकत्रित न होने दें। यह मच्छर दिन के समय काटता है।

Read this also: बसपा का संगठनात्मक बदलाव कितना कारगर साबित होगा इन दो मंडलों की 42 सीटों पर

चित्र उकेर कर नन्हें-मुन्नों ने लोगों को किया डेंगू के प्रति जागरूक

इस दौरान जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. ए.के.पाण्डेय, विश फाउंडेशन के कार्यक्रम प्रबंधक अंजुम गुलवेज, कार्मल स्कूल की प्रधानाचार्या सिस्टर जेसिन्था, वेद प्रकाश, अभिषेक, प्रिया, फरहाना आदि प्रमुख रुप से मौजूद रहे।