स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जब यहां अधिकारी व नेता बने घराती-बराती

Dheerendra Vikramadittya

Publish: Nov 15, 2019 01:40 AM | Updated: Nov 15, 2019 01:40 AM

Gorakhpur

प्रभारी मंत्री रमापति शास्त्री भी पहुंचे आशीर्वाद देने के लिए

गोरखपुर जिले में गुरुवार को 615 जोड़े एकदूजे के लिए हुए। मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत करीब आधा दर्जन सार्वजनिक समारोह में विवाह संपन्न कराया गया। बड़हलगंज के मिनी स्टेडियम में मुख्य कार्यक्रम में 251 जोडियां सात जन्मों के बंधन से बंधे।

[MORE_ADVERTISE1]जब यहां अधिकारी व नेता बने घराती-बराती[MORE_ADVERTISE2]

मुख्य कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि प्रभारी मंत्री रमापति शास्त्री आशीर्वाद देने पहुंचे। यहां बेलघाट, गगहा, गोला, उरूवां, कौड़ीराम, बांसगांव, खजनी एवं बड़हलगंज के युवक-युवतियों की शादी कराई गई।

[MORE_ADVERTISE3]जब यहां अधिकारी व नेता बने घराती-बराती

प्रभारी मंत्री रमापति शास्त्री ने कहा कि ऐसे कार्यक्रमों का उद्देश्य सर्व धर्म समभाव तथा समाजिक समरसता को बढ़ावा देना तथा विवाहोत्सव में अनावश्यक अपव्यय एवं प्रदर्शन से मुक्ति दिलाना है। इस समारोह में सभी धर्म व समुदाय के युवक-युवतियों की शादी उनके धार्मिक रीति-रीवाज से कराई गई।

जब यहां अधिकारी व नेता बने घराती-बराती

उन्होंने बताया कि विवाह अनुदान की धनराशि प्रति जोड़ा 35 हजार रुपये से बढ़ाकर 51 हजार रुपये कर दी गई है। अब 35 हजार युवती के खाते में तथा 10 हजार रुपये की वैवाहिक सामग्री खरीदी होगी। छह हजार रुपये प्रति जोड़े के शादी के खर्च के लिए दी जाती है। इस योजना में विधवा, तलाकसुधा, परित्यक्ता के पुनर्विवाह की भी व्यवस्था है।

जब यहां अधिकारी व नेता बने घराती-बराती

जिलाधिकारी के. विजयेन्द्र पांडियन ने मुख्य अतिथि व अन्य अतिथियों का स्वागत किया।
इस मौके पर पूर्व मंत्री राजेश त्रिपाठी, निदेशक समाज कल्याण, मुख्य विकास अधिकारी अनुज सिंह सहित क्षेत्रीय ग्राम प्रधान व जनप्रतिनिधि भी मौजूद रहे।