स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

यूपी में 500 पहाड़ी तोतें बरामद, इस काम के लिए होती है तोतों की तस्करी

Dheerendra Vikramadittya

Publish: Nov 15, 2019 15:50 PM | Updated: Nov 15, 2019 15:50 PM

Gorakhpur


देश के कई प्रदेशों में होती है पहाड़ी तोतों की तस्करी

गोरखपुर में बडे़ पैमाने पर पहाड़ी तोतों की तस्करी की जा रही है। एसटीएफ ने तस्करी कर ले जाए जा रहे पांच सौ तोतों को पकड़ा है। इन तोतों को तस्कर देश के विभिन्न प्रदेशों में ले जाकर बेचते थे। टीम की महिला सरगना सहित छह लोगों को एसटीएफ ने गिरफ्तार किया है। एसटीएफ लखनउ ने बरामद तोतों को वन विभाग को सौंप दिया है।

Read this also: अचानक घर पहुंचा पति, पत्नी को किसी दूसरे युवक के साथ इस हाल में देख...

दरअसल, वाइल्ड लाइफ क्राइम कंट्रोल ब्यूरो डब्ल्यूसीसीबी देश के वन्य जीवों के संरक्षण व सुरक्षा के लिए काम करती है। डब्ल्यूसीसीबी को एक सूचना मिली कि गोरखपुर में बड़ी मात्रा में पहाड़ी तोतों की तस्करी को अंजाम दिया जा रहा है। एसटीएफ को सूचना मिलने के बाद एसटीएफ एएसपी सत्यसेन यादव के निर्देशन में एक टीम इस गिरोह के लिए जाल बिछाई। पता चला कि बहराइच से काफी संख्या में तोते एकत्र किए गए हैं।

Read this also: टूरिस्ट बस से हो रही ड्रग्स की तस्करी, इतनी मात्रा में हेरोइन बरामद

सूचना के आधार पर गोरखपुर में जाल बिछाए एसटीएफ ने शहर के नौसड़ चैराहा पर एक संदिग्ध कार को रोका। इस कार में काफी संख्या में तोते रखे हुए थे। कार के साथ चल रही एक बाइक को भी पुलिस ने रोका। बाइक पर शहर के रायगंज क्षेत्र की सलमा व उसका दामाद मो. अमजद उर्फ मुन्ना पुत्र नूर मोहम्मद (39) थे। जबकि तोतों के साथ कार में बहराइच के अब्दुल सईद (19), अनीस अहमद (23), दिलशाद अहमद (19), इरशाद बैठे थे।
एसटीएफ ने सबको हिरासत में लेकर पूछताछ किया। सारा माजरा सामने आने के बाद सभी को गिरफ्तार करने के साथ तोतों को कब्जे में ले लिया। आरोपियों के खिलाफ वन्य जीव संरक्षण अधिनियम 1972 की धारा 2, 9, 39, 48ए, 49, 50 व 51 के तहत वन विभाग ने मुकदमा दर्ज किया गया है। तोतों को वन विभाग को सुपुर्द कर दिया गया है।

Read this also: मस्जिद विस्फोट में मौलवी ने किया बड़ा खुलासा, सेना में कार्यरत अशफाक भी एजेंसियों के रडार पर

[MORE_ADVERTISE1]