स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

गौवंशीय पशु को सड़क पर छोड़ने पर यूपी में पहला एफआईआर, मचा हड़कंप

Dheerendra Vikramadittya

Publish: Nov 06, 2019 12:57 PM | Updated: Nov 06, 2019 12:57 PM

Gorakhpur

  • नगर निगम ने दर्ज कराई प्राथमिकी
  • दूध देना बंद कर देने पर पशुओं को लावारिस छोड़ देते हैं पशुपालक

गौवंशीय पशुओं को सड़क पर छोड़ने वालों की अब खैर नहीं है। नगर निगम ने पशुओं को सड़क पर छोड़ने के मामले में सख्ती दिखानी शुरू कर दी है। दूध देना बंद होने पर पशु को लावारिस छोड़ने वाले एक पशुपालक पर नगर निगम ने केस दर्ज कराया है। पुलिस ने पशु क्रूरता अधिनियम के तहत केस दर्ज किया है।

Read this also:

शहर के तारामंडल क्षेत्र के रहने वाले अनिल सिंह ने नगर निगम में शिकायत दर्ज कराई थी कि उनके दरवाजे पर किसी ने एक गाय को मरणासन्न हालत में छोड़ दिया है, वह लावारिस वहां पड़ी हुई है। नगर निगम ने शिकायत पर अपने कर्मचारी भेज जांच कराई। गाय के ईयर टैग से निगम ने पशुपालक की पहचान कराई। बताया गया कि गाय रुस्तमपुर के रहने वाले रामप्यारे व अवधेश यादव की है। दोनों सगे भाई हैं।
बताया जा रहा है कि गाय के दूध देना बंद होने पर पशुपालक ने उसे सड़क पर लावारिस छोड़ दिया था।
गाय को लावारिस छोड़े जाने पर नगर आयुक्त ने प्राथमिकी दर्ज कराने का आदेश दिया। इसके बाद नगर में तैनात सफाई सुपरवाईजर रामगोपाल मिश्र ने रामगढ़ताल थाने पर तहरीर देकर पशुपालक रामप्यारे व अवधेश के खिलाफ पशु क्रूरता अधिनियम के अंतर्गत केस दर्ज कराया।

Read this also: मुन्ना बजरंगी गैंग का शार्प शूटर गिरफ्तार, इस माफिया की शह पर मांग रहा था रंगदारी

[MORE_ADVERTISE1]