स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पराली जलाने पर 14 किसानों पर केस, चार गिरफ्तार, दस पर जुर्माना

Dheerendra Vikramadittya

Publish: Nov 07, 2019 21:25 PM | Updated: Nov 07, 2019 21:25 PM

Gorakhpur

  • मुख्यमंत्री के जिले के दस किसानों पर जुर्माना व केस
  • महराजगंज में चार किसानों को किया गया गिरफ्तार

गोरखपुर में पराली जलाने के आरोप में दस किसानों के खिलाफ केस दर्ज कराने के साथ ढाई ढाई हजार रुपये का जुर्माना लगाया गया है। जबकि महराजगंज जिले में चार किसानों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। प्रदेश में यह पहला मामला है जिसमें पराली जलाने पर किसानों के खिलाफ इतनी सख्त कार्रवाई की गई है।

Read this also: यूपी में पराली जलाने पर पहली गिरफ्तारी, इस जिले के चार किसान गिरफ्तार

प्राप्त जानकारी के अनुसार गोरखपुर सदर तहसीलदार ने क्षेत्रीय लेखपाल की रिपोर्ट पर थाना पिपराइच में जंगल औराही में 6 तथा जंगल धूषण में तीन लोगों और खोराबार थाना में ग्राम लालपुर टीकर के एक व्यक्ति के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराया। इन 10 किसानों पर 2500-2500 का अर्थदंड भी लगाया गया है। तहसीलदार सदर डॉ. संजीव दीक्षित ने बताया कि जंगल औराही के रामवृक्ष, मोहनलाल, रामबेलास, गुलाब चंद, शिवानंद व जंगल धूषण के शंभूनाथ, छोटेलाल, विजेंद्र व लालपुर टीकर में चिन्ता देवी पत्नी चंद्रभान सहित दस लोगों के खिलाफ लेखपाल ने रिपोर्ट की थी।

Read this also: पराली जलाने वाले किसानों पर सख्त हुई यूपी सरकार, कमिश्नर ने दिया यह आदेश

महराजगंज जिले में चार किसान गए जेल

पराली जलाने के आरोप में महराजगंज में चार किसानों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। तहसीलदार के आदेश पर पुलिस ने यह कार्रवाई की है। महराजगंज जिले के ठूठीबारी क्षेत्र में तहसीलदार राहुल देव भट्ट को सूचना मिली कि क्षेत्र के कुछ किसान पराली जला रहे हैं। तहसीलदार ने डाॅयल 100 को फोन कर जानकारी दी। सूचना पर सक्रिय हुई डाॅयल 100 पुलिस ने कई गांवों में कार्रवाई कर चार किसानों को पराली जलाते हुए हिरासत में लिया। कड़जा गांव के आत्मादास, डिगही के अर्जुन नायक, इटहिया के किशोर यादव व रामपरीखन को पुलिस ने हिरासत में लेकर कोतवाली पुलिस को सौंप दिया।
तहसीलदार के आदेश के बाद कोतवाली पुलिस ने चारों किसानो के खिलाफ केस दर्ज कर जेल भेज दिया।

Read this also: बसपा का संगठनात्मक बदलाव कितना कारगर साबित होगा इन दो मंडलों की 42 सीटों पर

[MORE_ADVERTISE1]