स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बसपा प्रदेश अध्यक्ष ने सुनाया मायावती का संदेश, अब पार्टी में बंद होगी यह प्रथा

Dheerendra Vikramadittya

Publish: Nov 17, 2019 12:20 PM | Updated: Nov 17, 2019 12:20 PM

Gorakhpur


मिशन 2022 के लिए नए तेवर के साथ बसपा का शुरू हुआ अभियान

बसपा को अब अपने पुराने कार्यकर्ताओं की याद आई है। गोरखपुर पहुंचे प्रदेश अध्यक्ष मुनकाद अली ने साफ कहा कि पुराने कार्यकर्ताओं की पूछ कम होने की वजह से पार्टी को नुकसान हुआ है। पुराने कार्यकर्ताओं के मोहल्लों में बैठक हो जाती है और उन्हें पता ही नहीं चलता। सबको पुराने लोगों के बीच जाकर बैठने की आदत डालनी होगी।

Read this also:

प्रदेश अध्यक्ष संगठन की मंडलीय कार्यकर्ता बैठक में भाग लेने पहुंचे थे। शहर के एक मैरेज हाॅल में आयोजित इस बैठक को संबोधित करते हुए प्रदेश अध्यक्ष ने यह भी नसीहत दी कि संगठन में पैर छूने की आदत पर विराम लगे। उन्होंने पार्टी मुखिया मायावती का संदेश सुनाते हुए कहा कि पार्टी मुखिया भी नहीं चाहती हैं कि कोई पदाधिकारी/कार्यकर्ता उनको या किसी अन्य नेता/पदाधिकारी का पैर छुए। पार्टी में पैर छूने की प्रथा को बंद करना होगा।

Read this also: यूपी में 500 पहाड़ी तोतें बरामद, इस काम के लिए होती है तोतों की तस्करी

सांगठनिक ढांचे के कमजोर होने पर चिंता जताते हुए उन्होंने कहा कि बूथ एजेंट के भरोसे हम यहां तक पहुंचे हैं लेकिन उनके सुख-दुख में उन्हें कोई पूछने नहीं जाता। हम रास्ते से भटक गए हैं। पुराने लोगों से मिलें, कार्यकर्ताओं के सुख-दुःख में भागीदार बनें। हमें सुधार कर आगे बढना होगा और पार्टी को मजबूत बनाकर 2022 में बसपा प्रमुख को मुख्यमंत्री बनाना होगा।
इस दौरान विधान परिषद के पूर्व सभापति गणेश शंकर पांडेय, सेक्टर प्रभारी इंदल राम, सुधीर कुमार भारती, जोन इंचार्ज हरिप्रकाश निषाद, जिलाध्यक्ष घनश्याम राही, जीएम सिंह, सुरेश कुमार गौतम आदि मौजूद रहे।

Read this also: सीएम योगी आदित्यनाथ का ऐलान, अगले साल यहां होगी नौकरियों व रोजगार की भरमार

[MORE_ADVERTISE1]