स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

ये हैं भगवान श्रीराम के वंशज, भाजपा सांसद ने किया दावा, खून से लिखा पत्र

Akansha Singh

Publish: Aug 20, 2019 11:41 AM | Updated: Aug 20, 2019 11:41 AM

Gonda

जिले में एक ऐसा शख्स सामने आया है जो खुद को भगवान श्रीराम (Lord Shree Ram) का वंशज बता रहा है।

गोंडा. जिले में एक ऐसा शख्स सामने आया है जो खुद को भगवान श्रीराम (Lord Shree Ram) का वंशज बता रहा है। शहर के उमरीबेगमगंज (Umri Begam Ganj) इलाके के रहने वाले सोनू ठाकुर ने खून से लिखे पत्र लिखकर भगवान राम (Lord Ram) के वंशज होने का दावा किया हैं। उन्होंने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के जज और राष्ट्रपति को खून से पत्र लिखकर अपील की है। वहीं अयोध्या मामले (Ayodhya) में सुनवाई कर रही सुप्रीम कोर्ट (Ayodhya) के पीठ से सोनू ठाकुर (Sonu Thakur) ने अपील की है कि वहां एक भव्य राम मंदिर (Ram Mnadir) का निर्माण हो। सोनू ने कहा ने दावा करते हुए कहा कि हमारे पूर्वज अयोध्या से आकर गोंडा में बस गये थे, और कई पीढ़ियों से हम गोंडा में रह रहे है।

कच्छवाहा/कुशवाहा वंश के वंशज

जयपुर के राजपरिवार की तरफ से कहा जा रहा है कि वे भगवान राम के बड़े बेटे कुश के नाम पर ख्यात कच्छवाहा/कुशवाहा वंश के वंशज हैं। यह बात इतिहास के पन्नों में दर्ज है। राजस्‍थान (Rajasthan) के राजसमंद (Rajsamand) से बीजेपी सांसद (BJP MLA) और पूर्व राजकुमारी दीया कुमारी (Ex princess diya kumari) इसके कई सबूत देने की भी दावा कर रही हैं। उनकी तरफ से कहा जा रहा है कि उनके पास एक पत्रावली है, जिसमें भगवान श्रीराम के वंश के सभी पूर्वजों का नाम क्रमवार दर्ज हैं। इसी में 289वें वंशज के रूप में सवाई जयसिंह और 307वें वंशज के रूप में महाराजा भवानी सिंह (Maharaja Bhavani Singh) का नाम लिखा है। इसके अलावा पोथीखाने के नक्शे भी मौजूद हैं। बता दें कि अयोध्या मामले में मध्यस्थता की कोशिश नाकाम होने के बाद सुप्रीम कोर्ट में नियमित सुनवाई शुरू हो गई है। 6 अगस्त से शुरू हुई रोजाना सुनवाई के दौरान सर्वोच्च अदालत में निर्मोही अखाड़ा और रामलला विराजमान के साथ मुस्लिम समाज के लोग भी अपना पक्ष रख रहे हैं।