स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मासूम की इस छोटी सी गलती से नाराज चाचा ने ईद पर दी ऐसी खौफनाक सजा, परिवार में मचा कोहराम- देखें वीडियाे

Nitin Sharma

Publish: Aug 19, 2019 13:15 PM | Updated: Aug 19, 2019 13:15 PM

Ghaziabad

मुख्य बातें

  • मासूम ने ईद के दिन चाचा की जगह मामा के घर पहुंचा दिया था गोश्त
  • बच्ची की हत्या कर बोरे में शव भरकर नेशनल हाईवे पर फेंका

गाजियाबाद। ईद पर जहां सभी लोग हंसी खुशी त्यौहार मना रहे थे। घर के बच्चों को ईदी दे रहे थे। इसबीच ही एक चाचा ने सात साल की मासूम भतीजी जी से एक छोटी सी गलती होने पर उसे मौत के घाट उतार दिया। इतना ही नहीं आरोपी ने उसके शव को एक बोरे में भरकर नाले में फेंक दिया। वहीं परिजनों ने बच्ची के संदिग्ध परिस्थितियों में लापता होने पर उसकी तलाश की। मामले की जानकारी पुलिस को दी। जिसके बाद बच्ची का शव चार दिन बाद एक नाले में बंद बोरे में मिला। इतना ही नहीं जब पुलिस ने जांच कर मामले का खुलासा किया तो परिजनों के पैरों तले जमीन खिंसक गई।

दरअसल पूरा मामला गाजियाबाद के खोड़ा थाना क्षेत्र का है। यहां पर ईद के दिन 7 साल की मासूम बच्ची को उसके चाचा सलीम ने कुर्बानी के गोश्त को ले जाकर घर देने के लिए कहा था, लेकिन बच्ची ने गोश्त घर ना जाकर अपने मामा के घर दे दिया। इस बात का पता लगते ही नाराज होकर चाचा सलीम ने बच्ची को पहले डाटा और उसके बाद उसको जोरदार थप्पड़ मार दिया। थप्पड़ लगने के बाद बच्ची का सर घर क सीढिय़ों में जा लगा। इससे बच्ची के सिर से खून बहने लगा। खून ज्यादा बहने से बच्ची की मौत हो गई।

बच्ची के शव को ऐसे लगाया ठिकाने

बच्ची की मौत की खबर आरोपी चाचा ने सबसे छिपा ली। इसके साथ ही बच्ची के शव को बोरी में डालकर देर रात नेशनल हाई- वे 9 के पास बने नाले में फेंक दिया। उधर बच्ची के गुमशुदगी कहकर उसकी तलाश करनी शुरू कर दी। इसी दौरान पुलिस को बच्ची का शव ईद के पांच दिन बाद 17 तारीख को इंदिरापुरम थाना क्षेत्र के नाले में मिला। जब पुलिस ने बच्ची की हत्या से लेकर शव मिलने जांच की तो पता चला कि चाचा ने ही भतीजी की हत्या कर शव यहां फेंका है। यह सुनते ही परिवार के लोग हैरान रह गये। वहीं पुलिस ने आरोपी चाचा को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।