स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

70 लाख के गबन करने वाली महिला SHO के बाद SSP ने इस इंस्पेक्टर के खिलाफ दर्ज कराई FIR

Nitin Sharma

Publish: Nov 10, 2019 17:24 PM | Updated: Nov 10, 2019 17:24 PM

Ghaziabad

Highlights

  • लाइनहाजिर के बाद जांच में दोषी मिलने पर किया सस्पेंड कर दर्ज हुई एफआईआर
  • Inspector के साथ दो सब इंस्पेक्टरों को भी किया गया सस्पेंड
  • अब इंस्पेक्टर की हो सकती है गिरफ्तारी

 

गाजियाबाद। दिल्ली से सटे गाजियाबाद के (SSP) एसएसपी सुधीर कुमार सिंह का चाबुक भ्रष्ट (PoliceMan) पुलिसकर्मियों पर लगातार चलता हुआ दिखाई दे रहा है। जहां एक तरफ एसएसपी ने थाना लिंक रोड में तैनात इंस्पेक्टर लक्ष्मी चौहान और उनके अन्य 7 सहयोगियों को भ्रष्टाचार के मामले में लिप्त पाए जाने पर सलाखों के पीछे भेज दिया था, तो वहीं अब थाना इंदिरापुरम में तैनात रहे इंस्पेक्टर दीपक शर्मा को रिश्वत लेकर आरोपियों को छोडऩे के मामले में सस्पेंड कर (FIR) एफआईआर दर्ज करा दी है। इंस्पेक्टर के साथ ही दो अन्य सब इंस्पेक्टरों को भी सस्पेंड किया गया है।

बाइक पर शादी का कार्ड बांटने जा रहे शख्स को तेज रफ्तार कार ने मारी टक्कर, उपचार के दौरान हुई मौत

एसएसपी ने जांच में इंस्पेक्टर को पाया दोषी

इस पूरे मामले की जानकारी देते हुए गाजियाबाद के एसएसपी सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि 22/23 अक्टूबर को इंस्पेक्टर दीपक शर्मा द्वारा जुआ एवं सटोरियों से लाखों रुपए लेकर छोड़े जाने का मामला सामने आया था। जिसके बाद इंस्पेक्टर दीपक शर्मा को लाइन हाजिर किया गया था। इस पूरे मामले की जांच क्षेत्राधिकारी केशव कुमार को सौंपी गई थी। क्षेत्राधिकारी द्वारा की गई जांच में इंस्पेक्टर दीपक शर्मा और 2 इंस्पेक्टरों को भी दोषी पाया गया है । इनके कब्जे से उस मामले में 406000 रुपये रिश्वत भी ली गई। जिसे पुलिस ने बरामद कर लिए है। वही इसके बाद अब इंस्पेक्टर दीपक शर्मा और उनके सहयोगी दोनों सब इंस्पेक्टरो को भी सस्पेंड किया गया है। और दीपक शर्मा के खिलाफ थाना इंदिरापुरम में ही आईपीसी 409 और पी सी एक्ट में मामला दर्ज कराया गया है।

[MORE_ADVERTISE1]