स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

New Motor Vehicle Act के बाद अब सड़कों पर दिखे ये वाहन तो भरना होगा 10 हजार का जुर्माना

lokesh verma

Publish: Sep 21, 2019 13:25 PM | Updated: Sep 21, 2019 17:26 PM

Ghaziabad

Highlights
- New Motor Vehicle Act 2019 के लागू होने के बाद पड़ी दोहरी मार
- RTO ने करीब 82 हजार वाहनों को सड़क से किया आउट
- पांच हजार के स्थान पर अब लगेगा दस हजार रुपये का जुर्माना

गाजियाबाद. नया मोटर व्हीकल एक्ट 2019 (New Motor Vehicle Act 2019) लागू होने के बाद से वाहन चालक भारी-भरकम चालान से परेशान हैं। वहीं एनजीटी की सख्ती के बाद आरटीओ (RTO) कार्यालय ने करीब 82 हजार वाहनों को सड़क से आउट कर दिया है। इसके अलावा चेतावनी भी जारी की गई है कि अगर ये वाहन सड़कों पर चलते पाए गए तो जुर्माने के साथ वाहनों को सीज कर दिया जाएगा।

दरअसल, सर्दियों की आहट के साथ ही बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए परिवहन विभाग की आेर से बड़ा कदम उठाया गया है। बताया जा रहा है कि एनजीटी के आदेशों को देखते हुए आरटीओ ने 25 सीरीज के वाहनों का पंजीकरण रद्द कर दिया है। बताया गया है कि इन वाहनों के नंबर 2000 से पहले जारी हुए थे। परिवहन विभाग ने साफ-साफ कह दिया है कि इस सीरीज के वाहन चलते पाए गए तो उन पर दस हजार रुपये के जुर्माने के साथ सीज करने की कार्रवाई की जाएगी। बता दें कि इससे पहले एेसे वाहनों पर प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड पांच हजार रुपये का जुर्माना लगाता था।

यह भी पढ़ें- Motor Vehical Act में बदलाव की मांग को लेकर हुई हड़ताल, पुलिस ने इतने लोगों को किया गिरफ्तार- देखें वीडियो

परिवहन विभाग दस साल पुराने डीजल आैर 15 साल पुराने पेट्रोल वाहनों पर कार्रवाई कर रहा है। इन वाहनों में सर्वाधिक पेट्रोल के वाहन हैं। परिवहन विभाग 75293 पेट्रोल से चलने वाले वाहनों का पंजीकरण रद्द कर चुका है। जबकि डीजल के 6480 वाहनों का रजिस्ट्रेशन रद्द किया गया है। इस तरह 81773 वाहनों को एनसीआर में प्रतिबंधित कर दिया गया है।

इस संबंध में एआरटीआे विश्वजीत प्रताप सिंह का कहना है कि एेसे वाहनों के मालिकों को सूचित किया गया है कि वह 60 दिन के अंदर एनसीआर में चलने वाले वाहनों को बाहरी जिलों में चलाने के लिए आरटीआे से एनआेसी प्राप्त कर लें या फिर उनका रजिस्ट्रेशन रद्द करा दें। इसके बाद एनसीआर की सड़कों पर पुराने वाहन नहीं चल पाएंगे। अगर इसके बाद भी एेसे वाहन चलते हैं तो उनके खिलाफ कार्रवार्इ की जाएगी।

इस खबर पर कमेंट करने के लिए यहां क्लिक करें

उत्तर प्रदेश के 34 जिलों में चलाए जा सकते हैं ये वाहन

उन्होंने बताया कि एेसे वाहन उत्तर प्रदेश के 34 जिलों में चलाए जा सकते हैं, जिनमें बिजनौर, संतकबीर नगर, इटावा, अंबेडकर नगर, फरुखाबाद, कन्नौज, इटावा, बलिया, सुल्तानपुर, मैनपुरी, गाजीपुर, प्रतापगढ़, महाराजगंज, सिद्धार्थनगर, श्रावस्ती, आेरैया, सोनभद्र, पीलीभीत, शाहजहांपुर, लखीमपुर, बदायुं, बलरामपुर, हरदोइ, बहराइच, उरइ, एटा, काशीरामनगर, महौबा, ललितपुर, चित्रकूट, हमीरपुर व अमेठी शामिल हैं।

यह भी पढ़ें- Weather Alert: इस बार जल्दी आएगी ठंड, जानिए किस तारीख से पड़ेगी कड़ाके की सर्दी