स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

नागरिकता संशोधन विधेयक के खिलाफ गाजियाबाद में भी हुआ बड़ा प्रदर्शन, देखें वीडियो

Iftekhar Ahmed

Publish: Dec 14, 2019 12:11 PM | Updated: Dec 14, 2019 12:11 PM

Ghaziabad

  • जमीयत उलेमा-ए-हिंद (Jamiyat Ulema e Hind) का नागरिक संशोधन बिल के खिलाफ प्रदर्शन
  • बड़ी संख्या में जिला मुख्यालय पर लोगों ने किया प्रदर्शन (Protest against CAB)
  • प्रदर्शन करने के बाद राष्ट्रपति के नाम सौंपा गया ज्ञापन

 

गाजियाबाद. नागरिकता संशोधन बिल (Citizen amendment bill-2019-CAB) के मामले में लगातार विरोध बढ़ता ही जा रहा है। गाजियाबाद जमीयत उलेमा-ए-हिंद (Jamiyat Ulema e Hind) ने जिला मुख्यालय के बाहर इस बिल को लेकर प्रदर्शन किया। इसके बाद बिल के खिलाफ प्रशासन को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा। गाजियाबाद के सिटी मजिस्ट्रेट (Ghaziabad city magistrate) ने इस ज्ञापन को लिया। गौरतलब है कि भारी संख्या में संगठन के कार्यकर्ता सुबह से ही जिला मुख्यालय के बाहर जमे हुए थे।

यह भी पढ़ें: देवबंदी मुस्लिम धर्मगुरु ने नगरिकता संशोधन बिल पास होने पर की कड़ी निंदा

प्रदर्शन के बाद मीडिया से मुखातिब जमीयत उलेमा-ए-हिंद के सदस्यों ने कहा कि भाजपा की केन्द्र सरकार ने नागरिकता संशोधन बिल (Citizen amendment bill-2019-CAB)जो पास किया है। वह न सिर्फ कानून के खिलाफ है, बल्कि यह हिंदुस्तान की तहजीब के भी खिलाफ है। यानी इस बिल के अंदर सभी को बराबर का सम्मान मिलना चाहिए, जो नहीं दिया गया है। इसलिए जमीयत उलेमा-ए-हिंद इसका पुरजोर विरोध करता है। उन्होंने कहा कि हमने राष्ट्रपति के नाम एक ज्ञापन सिटी मजिस्ट्रेट को सौंपा है। यदि जल्द ही इस तरफ ध्यान नहीं दिया गया तो जमीयत उलेमा-ए-हिंद बड़े स्तर पर आंदोलन करेगा।

यह भी पढ़ें: पानीपत MOVIE के खिलाफ जाटों ने प्रदर्शन, पुलिस ने मॉल में शो को कराया बंद

उधर, इस पूरे मामले की जानकारी देते हुए सिटी मजिस्ट्रेट शिव प्रताप शुक्ला ने बताया कि नागरिक संशोधन बिल के खिलाफ जमीयत उलेमा-ए-हिंद के सदस्यों के द्वारा एक ज्ञापन राष्ट्रपति के नाम सौंपा गया है, जिसे राष्ट्रपति तक पहुंचा दिया जाएगा।

[MORE_ADVERTISE1]