स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

महिला ने चश्‍मा उठाने के बहाने खोली कार की डोर और मच गई अफरा-तफरी, पढ़ें पूरा मामला

lokesh verma

Publish: Sep 16, 2019 15:54 PM | Updated: Sep 16, 2019 15:54 PM

Ghaziabad

Highlights
- कविनगर थाना क्षेत्र के शास्त्रीनगर नगर का मामला
- 11वीं के छात्र ने अपहरणकर्ताओं को सिखाया सबक
- बच्चे की बहादुरी देख उल्टे पैर भागे बदमाश

गाजियाबाद. लगातार हो रहे एनकाउंटर के बाद भी बदमाशों में पुलिस का खौफ नजर नहीं आ रहा है। बदमाश सरेआम वारदातों को अंजाम दे रहे हैं। ताजा मामला गाजियाबाद के कविनगर थाना क्षेत्र का है, जहां कार सवार दो बदमाशों ने एक बुजुर्ग महिला के साथ 11वीं के छात्र के अपहरण का प्रयास किया है। छात्र की बहादुरी की वजह से उसका अपहरण तो नहीं हो सका, लेकिन आरोपी पुलिस व्यवस्था पर सवाल खड़े करते हुए फरार होने में कामयाब जरूर हो गए हैं। पुलिस अब इस मामले में क्षेत्र में लगे सीसीटीवी कैमरों की तलाश कर रही है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, कविनगर थाना क्षेत्र के शास्त्रीनगर डी ब्लाॅक में रहने वाले मदनपाल सिंह एक्सपोर्ट हाउस में परचेज मैनेजर के पद तैनात हैं। उनका 16 साल का बेटा श्रेयांश शुक्रवार दोपहर को घर से केले लेने के लिए निकला था। वह केले खरीदकर घर लौट रहा था। जैसे ही वह राज गैस एजेंसी के नजदीक पहुंचा तो सफेद रंग की एक इंडिका कार आकर रुकी। कार में पिछली सीट पर बैठी एक बुजुर्ग महिला श्रेयांश से सड़क पर गिरा उसका चश्मा उठाने के लिए कहा।

यह भी पढ़ें- नोएडा स्टेडियम में पेड़ से लटकता मिला शव, सुसाइड नोट से हत्या की वजह का हुआ खुलासा

बुजुर्ग महिला के कहने पर जैसे ही श्रेयांश चश्मा उठाकर देने लगा तो महिला ने कार का दरवाजा खोल दिया। इसी बीच पीछे से आए एक युवक ने उसे कार में धकेल दिया। वहीं महिला तुरंत आगे की सीट पर जाकर बैठ गर्इ। युवक श्रेयांश के पैर कार के अंदर कर दरवाजा बंद करने लगा तो छात्र ने हाथ में पहने हुए कड़े को निकालकर आरोपी के सिर वार करने शुरू कर दिए। जैसे आरोपी की पकड़ ढीली हुर्इ तो छात्र फुर्ती से कार से नीचे कूद गया।

छात्र की बहादुरी देख आरोपियों के हौसले पस्त हो गए आैर तीनों लोग कार समेत फरार हो गए। श्रेयांश तुरंत घर पहुंचा आैर मां को आपबीती सुनार्इ। इसके बाद सूचना पर छात्र के घर पुलिस की टीम भी पहुंच गर्इ। श्रेयांश ने बताया कि कार की पीछे की नंबर प्लेट पर काला तेल पड़ा था। इसलिए वह कार का नंबर नोट नहीं कर सका। कविनगर थाने के एसएचओ अनिल कुमार शाही का कहना है कि क्षेत्र में लगे सीसीटीवी कैमरों की तलाश की जा रही है। फिलहाल उन्हें घटना स्थल के आसपास कोर्इ सीसीटीवी कैमरा नहीं मिला है।

यह भी पढ़ें- बाथरूम के अंदर इस हाल में मिला बैंक ऑफिसर देखते ही मच गया हड़कंप और फिर... देखें वीडियो