स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कोलकाता में रेलवे हेड क्वार्टर पर हुई थी युवक की ट्रेनिंग, फिर जो हुआ..

Virendra Kumar Sharma

Publish: Sep 12, 2019 16:23 PM | Updated: Sep 12, 2019 16:23 PM

Ghaziabad

Highlights

. कोलकाता रेलवे स्टेशन के पास रेलवे क्वार्टर में दी गई ट्रेनिंग
. कोर्ट के आदेश पर हुआ था मुकदमा दर्ज
. रेलवे में नौकरी के लिए दिया था फर्जी जॉइनिंग लेटर

 

गाजियाबाद. एक युवक को कोलकाता रेलवे स्टेशन के पास बने रेलवे हेड क्वार्टर में ट्रेनिंग दी गई। उसके बाद रेलवे में नौकरी का फर्जी जॉइनिंग लेटर दे दिया। पीड़ित से 48 लाख रुपये ठग लिए। कविनगर पुलिस ने इस धोखाधड़ी के मामले में एक ठग को पूछताछ के लिए रिमांड पर लिया है। उसने ठगी के मामले में अहम राज खोले है।

बता दें कि महेंद्र एन्क्लेव निवासी आकाश वत्स और अन्य दोस्तों के साथ रेलवे में नौकरी दिलाने के नाम पर 48 लाख रुपये लिए गए थे। उसके बाद नौकरी नहीं दिलाई गई। पीड़ित ने पुलिस के चक्कर काटे, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। बाद में 2018 में कोर्ट के आदेश पर आरोपी के खिलाफ ठगी का मुकदमा दर्ज हुआ। पुलिस ने आरोपी का नाम रोशन कुमार बतायया है। दिल्ली की द्वारका पुलिस ने उसे कुछ दिनों पहले गिरफ्तार किया था। उसके खिलाफ गाजियाबाद में रिपोर्ट दर्ज थी। आरोपी छह लाख में नौकरी का झांसा देता था।

आरोपी की रेेलवे में अच्छी पकड़ होने की बात कहता था। आकाश की दो साल पहले ही रोशन से मुलाकात हुई थी। नौकरी लगवाने की बात हुई और कोलकाता रेलवे स्टेशन पर टीसी के पद पर बातचीत हुई। 48 लाख रुपये दिए गए।