स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

ठेकेदार ने कमिश्नर को दिया अपना विजिटिंग कार्ड तो लगा दिया 500 रुपए का जुर्माना, वजह जानकर चौंक जाएंगे आप

Iftekhar Ahmed

Publish: Aug 22, 2019 20:20 PM | Updated: Aug 22, 2019 20:20 PM

Ghaziabad

  • एक ठेकेदार को नगर आयुक्त दिनेश चंद सिंह को विजिटिंग कार्ड देना महंगा पड़ा
  • कार्ड प्लास्टिक का होने की वजह से नगर आयुक्त ने ठेकेदार पपर लगाया 500 रुपए का जुर्माना

 

गाजियाबाद. अगर आप किसी से मिलने जाते वक्त अपना विजिटिंग कार्ड देने के आदी हैं तो सावधान हो जाएं। क्योंकि अब आपको अपना विजिटिंग कार्ड देने की वजह से जुर्माना भी ढेलना पड़ सकता है। जी हां, कुछ ऐसा ही हुआ गाजियाबाद में एक ठेकेदार के साथ। एक ठेकेदार जब नगर आयुक्त दिनेश चंद सिंह से मिलने पहुंचे और उन्हें अपना विजिटिंग कार्ड दिया तो उन्होंने झट से ठेकेदार पर 500 रुपए का जुर्माना लगा दिया। दरअसल, ठेकेदार ने नगर आयुक्त को जो कार्ड दिया था वह प्लास्टिक का था, जिसकी सजा उन्हें ततत्काल भुगतना पड़ा।

यह भी पढ़ें: भीम आर्मी के मुखिया चन्द्रशेखर की गिरफ्तारी पर प्रियंका गांधी ने सरकार के खिलाफ किया यह बड़ा ऐलान

पलास्टिक का विजिटिंग कार्ड देने पर नगर आयुक्त दिनेश चंद सिंह ठेके दार को न सिर्फ जुर्माना वसूला, बल्कि उन्होंने ठेकेदार को शपथ दिलाई कि वह दोबारा प्लास्टिक कार्ड का इस्तेमाल नहीं करेंगे। इस घटना के बाद गाजियाबाद के शास्त्रीनगर निवासी ठेकदार विवेक सिंह ने कहा कि उन्होंने प्लास्टिक कार्ड का इस्तेमाल नहीं करने की शपथ ली है। आपको बता दें कि जुलाई में एक डॉक्टर को प्लास्टिक का विजिटिंग कार्ड देने पर 500 जुर्माना भरना पड़ा था। इससे पहले नगर आयुक्त ने जून में एक चायवाले पर भी पॉलीथिन बैग में कुल्हड़ ले जाने पर 200 का जुर्माना लगा दिया था।