स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

VIDEO: 3 मंजिल इमारत में लगी आग, खिड़की से झांक कर चिल्लाते रहे लोग बचाओ-बचाओ

Ashutosh Pathak

Publish: Oct 23, 2019 11:42 AM | Updated: Oct 23, 2019 11:43 AM

Ghaziabad

Highlights

  • 3 मंजिल इमारत में लगी भीषण आग
  • फ्लैट में फंसे लोगों को निकाला गया
  • कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू

गाजियाबाद। गाजियाबाद के इंदिरापुरम के ज्ञान खंड इलाके में अचानक आग लगने से अफरा-तफरी मच गई। ज्ञान खंड 1 के प्लॉट नंबर 47 पर बने तीन मंजिला इमारत में आग लग गई। जैसे ही लोगों ने इस इमारत के सबसे नीचे वाले भाग में आग की लपट और धुआं निकलते देखा और ऊपर के हिस्से में रहने वाले कुछ लोगों की चीख-पुकार की आवाज सुनी तो इलाके में भगदड़ मच गई। जिसकी सूचना आनन-फानन में स्थानीय पुलिस और दमकल विभाग को दी गई। सूचना के आधार पर मौके पर पहुंची स्थानीय पुलिस और दमकल विभाग की दो गाड़ियों ने कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया।

इस इमारत के ऊपर वाले फ्लैट में रहने वाले लोगों को खिड़की के माध्यम से सुरक्षित बाहर निकाला। गनीमत रही कि सूचना के आधार पर समय रहते ही दमकल विभाग की टीम मौके पर पहुंची। ऊपर रहने वाले लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया वरना बड़ा हादसा हो सकता था।

जानकारी के मुताबिक इंदिरापुरम इलाके के ज्ञान खंड एक में प्लॉट नंबर 47 पर तीन मंजिल मकान बना हुआ है। जिसमें अलग-अलग फ्लोर पर 3 परिवार रहते हैं। मंगलवार को अचानक ही निचले वाले फ्लोर में भीषण आग लग गई। जैसे ही यह भयानक हादसा हुआ और धोनी की लपट ऊपर के फ्लैट में जाने लगी। तो ऊपर रहने वाले लोग फ्लैट में ही फंसे रहे और खिड़की से झांक कर बचाओ-बचाओ चीखने लगे। जैसे ही आसपास के लोगों ने आग की लपट और धुआं निकलते देखा। ऊपर के फ्लैट में रहने वाले लोगों की चीख पुकार सुनी तो इसकी सूचना आनन-फानन में स्थानीय पुलिस व दमकल विभाग को दी गई।

सूचना के आधार पर स्थानीय पुलिस और दमकल विभाग की टीम 2 गाड़ियों के साथ मौके पर पहुंची। सबसे पहले इस इमारत के पिछले हिस्से में बनी खिड़कियों के माध्यम से ऊपर के दोनों फ्लैटों में फंसे 60 वर्षीय आदर्श कुमार, 81 वर्षीय शांति देवी ,शारदा देवी पत्नी श्री किशन, के अलावा कक्षा 9 में पढ़ने वाली 14 वर्षीय सारा और कक्षा 6 में पढ़ने वाला 11 वर्षीय पार्थ कुमार को सुरक्षित बाहर निकाला गया। यानी दमकल विभाग की टीम इन के लिए फरिश्ता बनकर मौके पर पहुंची औऱ जब तक इस इमारत में फंसे सभी लोगों को सुरक्षित बाहर नहीं निकाल लिया गया। तब तक इन लोगों के अलावा स्थानीय लोगों की भी सांस अटकी रही। दमकल विभाग की टीम ने इमारत के निचले हिस्से में लगी आग पर कड़ी मशक्कत के बाद काबू पाया गया। गनीमत रही कि दमकल विभाग की टीम मौके पर समय से ही पहुंच गई। वरना बड़ा हादसा हो सकता था। बहरहाल इस हादसे के बाद किसी तरह की जनहानि तो नहीं हुई। लेकिन लाखों का माल जलकर राख हो गया आग लगने का कारण शॉर्ट सर्किट माना जा रहा है।