स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अयोध्या फैसला आने के बाद सड़क पर उतरे डीएम और एसएसपी, पुलिसकर्मियों की थपथपाई पीठ- देखें वीडियो

Nitin Sharma

Publish: Nov 10, 2019 17:52 PM | Updated: Nov 10, 2019 17:52 PM

Ghaziabad

Highlights

  • अचानक निरीक्षण के लिए पहुंच गये डीएम और एसएसपी
  • मुस्तैद पुलिसकर्मियों की प्रशंसा करने के साथ ही थपथपाई पीठ
  • जिले के लोगों को भी की ऐसी तारीफ

 

गाजियाबाद। अयोध्या फैसले के 1 दिन बाद रविवार को जिले में जिलाधिकारी व एसएसपी द्वारा सुरक्षा की दृष्टि से गाजियाबाद में सुरक्षा एवं शांति-व्यवस्था का निरीक्षण किया गया। इस दौरान जो पुलिसकर्मी ड्यूटी पर मुस्तेद मिले। एसएसपी ने उक्त पुलिस कर्मियों की प्रशंसा करते हुए उनकी पीठ थपथपाकर शाबाशी दी।

70 लाख के गबन करने वाली महिला SHO के बाद SSP ने इस इंस्पेक्टर के खिलाफ दर्ज कराई FIR

फैसला आने से पहले ही शुरू हो गई थी ऐसी तैयारी

दरअसल शनिवार को सर्वोच्च न्यायालय द्वारा अयोध्या मामले में फैसला सुनाया गया। जिसमें राम जन्मभूमि रामलला के पक्ष में दी गई। वहीं मुस्लिम वर्ग के लिए भी 5 एकड़ जमीन दूसरी जगह दिए जाने का आदेश दिया गया। जिसके बाद से देशभर में जगह-जगह खुशी का माहौल बना, लेकिन किसी भी तरह का जुलूस या आतिशबाजी पर पूरी तरह प्रतिबंध लगाया हुआ था। चप्पे-चप्पे पर पुलिस के जवान तैनात रहे यदि बात की जाए गाजियाबाद की तो गाजियाबाद में भी सुरक्षा के इंतजाम चाक-चौबंद दिखाई दिये। इतना ही नहीं खुद जिलाधिकारी अजय शंकर पांडे और एसएसपी सुधीर कुमार सिंह ने समूचे जनपद में सुरक्षा का जायजा लेते हुए निरीक्षण किया। और फैसला आने के बाद भी जनपद में लगातार पुलिस की गश्त रही है।

अचानक होटल से निकलने लगा काला धुआं तो लोगों ने लगा दी दौड़, दमकल कर्मियों ने ऐसे पाया काबू- देखें वीडियो

खुद निरीक्षण करने सड़क पर उतरे डीएम और एसएसपी

फैसले के एक दिन बाद भी जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय और एसएसपी सुधीर कुमार सिंह खुद सड़क पर उतरे। उन्होंने शहर भर में सुरक्षा का जायजा लिया। इतना ही नहीं सुरक्षा में तैनात जवानों की पीठ थपथपाकर एसएसपी सुधीर कुमार सिंह ने पुलिस के जवानों की तारीफ की। उन्होंने उनका हौसला भी बढ़ाया। इस पूरे मामले में एसएसपी सुधीर कुमार सिंह और जिलाधिकारी अजय शंकर पांडे ने बताया कि फैसला आने से पहले ही जनपद में चप्पे-चप्पे पर जवानों की तैनाती कर दी गई थी। इसके साथ ही लगातार हर जगह की जानकारी ली जाती रही है। इसके अलावा सोशल मीडिया पर भी पूरी तरह निगरानी बनी हुई है। उन्होंने कहा कि जैसे ही फैसला सुनाया गया तो यहां पर सभी धर्मों के लोगों ने सर्वोच्च न्यायालय का फैसला स्वीकार करते हुए आपस में शांति सौहार्द बनाने का कार्य किया है । जिस तरह से यहां के लोगों ने शांति सौहार्द बनाए जाने के लिए शालिनता का परिचय दिया है। वह बेहद तारीफ के काबिल है।

[MORE_ADVERTISE1]