स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

इंजीनियरिंग के छात्र को काठी रोल और एक रुमाली रोटी की चुकानी पड़ी 91 हजार कीमत, देखें वीडियो

Rahul Chauhan

Publish: Dec 10, 2019 19:30 PM | Updated: Dec 10, 2019 19:31 PM

Ghaziabad

Highlights:

-इंजीनियरिंग के छात्र सिद्धार्थ बंसल के पिता सुप्रीम कोर्ट में एडवोकेट हैं और माँ निजी अस्पताल में डॉक्टर हैं

-सिद्धार्थ खुद इंजीनियरिंग का पहली वर्ष का छात्र है

-रविवार की शाम सिद्धार्थ ऑनलाइन फूड एप से काठी रोल और रुमाली रोटी मंगवाया

गाजियाबाद। अगर आप भी जनपद में रहते हैं और ऑनलाइन सामान मंगाते हैं तो हमारी यह खबर आपके लिए खास खबर साबित हो सकती है। कारण, गाजियाबाद में एक ऐसा मामला सामने आया है जहां पर इंजीनियरिंग के छात्र को काठी रोल और एक रुमाली रोटी की कीमत 91 हजार चुकानी पड़ी। जानकर आप भी हैरत में पड़ गए होंगे, लेकिन यह सच है। एक फोन कॉल ने इस युवक से बात करते हुए इसके अकाउंट से यह रकम उड़ा ली। पुलिस ने मुकदमा दर्ज करते हुए जांच शुरू कर दी है।

यह भी पढ़ें : अखिलेश सरकार के लिए 'मुसीबत' बनीं महिला IAS पर बन रही फिल्म, कम उम्र में 'नेताओं' के छुड़ा दिए थे पसीने

[MORE_ADVERTISE1]
[MORE_ADVERTISE2]

दरअसल, आज से 2 दिन पहले थाना लिंक रोड इलाके ममें रहने वाले इंजीनियरिंग के छात्र सिद्धार्थ बंसल के पिता सुप्रीम कोर्ट में एडवोकेट हैं और माँ निजी अस्पताल में डॉक्टर हैं। सिद्धार्थ खुद इंजीनियरिंग का पहली वर्ष का छात्र है। रविवार की शाम सिद्धार्थ ऑनलाइन फूड एप से काठी रोल और रुमाली रोटी मंगवाया। इसके लिए उसने 142 रुपए एडवांस में दे दिए थे। काफी देर तक जब खाना नहीं आया तो उसने इसकी जानकारी एप के जरिये मांगी। वहां से जानकारी मिली कि खाना डिलीवर किया गया था। लेकिन, उसने लेने से मना कर दिया।

यह भी पढ़ें: शादीशुदा युवक को बंद कमरे में लड़की के साथ देखते ही दोस्त की निकल गई चीख

सिद्धार्थ ये सुनकर चौंक गया और उसने कस्टमर केयर फोन मिलाया। फोन न मिलने पर लगातार कोशिश जारी थी। इसी दौरान उसके पास फोन आया और उन्होंने बताया कि वह एप के कस्टमर केयर से बोल रहे हैं और उनको पैसा वापसी करना है। इस दौरान फोन पर सिद्धार्थ से ऑनलाइन पेमेंट वाला लिंक दुबारा उन्हें भेजने को कहा। जिसके बाद सिद्धार्थ ने ऐसा ही किया और इस दौरान कुछ देर में ट्रांजेक्शन के जरिए सिद्धार्थ बंसल के खाते से 91 हजार 196 रुपए निकल गए। ऐसा एक साथ कुल 7 ट्रांजेक्शन से हुआ। जब तक फोन पर आए मैसेज वह देख पाता तब तक देर हो चुकी थी।

सिद्धार्थ यह सब देख हैरान रह गया और उसने तुरंत अपने बैंक में फोन मिलाया। लेकिन, वहां से भी कोई रिस्पांस नहीं मिला। उसके बाद माता पिता के आने के बाद इस मामले की पुलिस रिपोर्ट कराई गई है। इस पूरे मामले में डीएसपी राकेश मिश्रा ने बताया कि ऐसा मामला सामने आया है। सिद्धार्थ नाम के एक युवक द्वारा इस तरह की तहरीर थाने में दी गई है। जिसके आधार पर मामला दर्ज करते हुए पुलिस इस पूरे मामले की जांच कर रही है।

[MORE_ADVERTISE3]