स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

दिल्ली अग्निकांड के बाद महानगर में सड़क पर उतरे प्रशासनिक अधिकारी, अवैध फैक्ट्रियों को कराया बंद- देखें वीडियो

Nitin Sharma

Publish: Dec 10, 2019 13:52 PM | Updated: Dec 10, 2019 13:52 PM

Ghaziabad

Highlights

  • दिल्ली की फैक्ट्री में आग लगने से 43 की मौत के बाद यहां सख्त हुआ प्रशासन
  • प्रशासनिक अधिकारियों ने कई अवैध फैक्ट्रियां को कराया बंद
  • रिहायशी एरिया में चल रही फैक्ट्री संचालकों को सौंपा नोटिस

गाजियाबाद। दिल्ली अग्निकांड में 43 लोगों की मौत के बाद गाजियाबाद प्रशासन भी सर्तक हो गया है। यही वजह है कि सोमवार को प्रशासनिक अधिकारियों ने अवैध फैक्ट्रियों पर चाबुक चला। अधिकारियों ने कार्रवाई करते हुए शहीद नगर के रिहायशी इलाकों में चल रही फैक्ट्रियों को बंद करने का नोटिस जारी कर दिया।

5 महीने का नहीं मिला वेतन तो धारदार हथियार लेकर पानी की टंकी पर चढ़ गया डिपो मैकेनिक, चला हाईवोल्टेज ड्रामा

दिल्ली की अनाज मंडी इलाके में 4 मंजिला फैक्ट्री में आग लगने के कारण 43 लोग काल के गाल में समा गए । जिसके बाद गाजियाबाद में भी जिला प्रशासन पूरी तरह सख्त हो गया है। सोमवार को गाजियाबाद के जिलाधिकारी द्वारा इस पूरे मामले को गंभीरता से लेते हुए एक बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें साफ तौर पर कहा गया है कि जहां पर भी बस्ती वाले इलाकों में फैक्ट्रियों चलाई जा रही हैं। उन्हें तत्काल प्रभाव से सील किए जाने का कार्य किया जाये। इसी कड़ी में एडीएम के नेतृत्व में सोमवार की देर शाम शहीद नगर का निरीक्षण किया गया। जहां पर बड़ी संख्या में अवैध रूप से घरों में फैक्ट्री चलती मिली। इन्हें तत्काल प्रभाव से बंद करने के आदेश जारी कर दिए गए हैं।

[MORE_ADVERTISE1]
[MORE_ADVERTISE2]

इस पूरे मामले की जानकारी देते हुए एडीएम शैलेंद्र कुमार ने बताया कि दिल्ली की अनाज मंडी में स्थित एक फैक्ट्री में हुए बड़े हादसे के बाद जिलाधिकारी अजय शंकर पांडे द्वारा दिए गए आदेश के बाद शहीद नगर इलाके में निरीक्षण किया गया। जहां पर घनी बस्ती में बड़ी संख्या में अवैध रूप से फैक्ट्री चलती मिली हैं। जिन्हें तत्काल प्रभाव से बंद किए जाने के आदेश जारी कर दिए गए हैं ।उन्होंने बताया कि किसी भी हाल में भीड़ वाले इलाके में फैक्ट्रियों को नहीं चलने दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि इन सभी फैक्ट्रियों में फायर सेफ्टी का भी कोई प्रबंध नहीं है। यदि कोई हादसा होता है तो बड़ी दुर्घटना भी घट सकती है। जिसके चलते इन्हें तत्काल प्रभाव से बंद कराए जाने के आदेश जारी किए गए हैं। उन्होंने कहा कि जल्द ही इन सभी फैक्ट्रियों को सील किया जाएगा। इसके अलावा सभी फैक्ट्री मालिकों से भी अनुरोध किया गया है कि उनके द्वारा ही इन अवैध फैक्ट्रियों को बंद कर लिया जाएगा।

[MORE_ADVERTISE3]