स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Ghaziabad: सीवर में सफाई करने उतरे 5 लोगों की मौत, इलाके में मचा हड़कंप

Rahul Chauhan

Publish: Aug 22, 2019 15:36 PM | Updated: Aug 22, 2019 17:35 PM

Ghaziabad

खबर की मुख्य बातें-

-सीवर सफाई करने के लिए उतरने 5 लोगों की दम घुटने से मौत हो गई

-वहीं इन पाचों मृतकों के अभी तक पहचान नहीं हो सकी है

-सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने पांचों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है

गाजियाबाद। थाना सिहानी गेट इलाके की नंद ग्राम कॉलोनी में अचानक उस वक्त अफरा-तफरी का माहौल हो गया। जब वहां पर बने सीवर की सफाई करने वाले पांच लोगों मौत होने की खबर सुनी। यह खबर आग की तरह पूरे इलाके में फैल गई और लोगों की भीड़ मौके पर जमा हो गई। आनन-फानन में स्थानीय पुलिस को सूचित किया गया। सूचना के आधार पर मौके पर पहुंची पुलिस ने सीवर में फंसे सभी पांचों लोगों को बाहर निकाला। जिनमें से तीन लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि दो लोग बदहवास हालत में थे। फानन में दोनों लोगों को अस्पताल पहुंचाया गया। लेकिन अस्पताल पहुंचने के बाद चिकित्सकों ने इन दोनों को मृत घोषित कर दिया।

बताया जा रहा है कि यह पूरा कार्य जल निगम के प्राइवेट ठेकेदार के द्वारा कराया जा रहा था। फिलहाल ठेकेदार फरार है और मृतकों की भी पूरी तरह शिनाख्त नहीं हो पाई है। सूचना की जानकारी मिलते ही पुलिस के आला अधिकारी और खुद जिलाधिकारी अजय शंकर पांडे भी मौके पर पहुंचे और स्थिति का जायजा लिया। वहीं स्पेशल टीम गठित करते हुए मामले की जांच शुरू कर दी गई है।

यह भी पढ़ें : UP पुलिस को मिली बड़ी सफलता, शराब और बीयर का जखीरा देख अधिकारी भी रह गए हैरान, देखें Video

मिली जानकारी के अनुसार शुरुआती दौर में 2 मजदूर सीवर के अंदर गए, लेकिन कुछ देर बाद ही उनकी आवाज आनी भी बंद हो गई। उनके साथियों ने अंदर जाकर उन्हें निकालने का प्रयास किया। लेकिन देखते ही देखते पांचों लोगों की आवाज बंद हो गई। जबकि अन्य साथियों को जब कुछ अनहोनी का शक हुआ तो उन्होंने शोर मचाया और स्थानीय पुलिस को सूचित किया। आनन-फानन में सूचना के आधार पर मौके पर पहुंची पुलिस ने सीवर के अंदर से सभी पांच मजदूरों को तत्काल बाहर निकाला लेकिन इनमें से तीन लोगों की मौके पर ही मौत हो चुकी थी। जबकि दो लोग पूरी तरह बेहोशी की हालत में थे। जिन्हें अस्पताल में चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया।

यह भी पढ़ें: पुलिस ने बताया कैसे रात के अंधेरे में बड़े-बड़े घरों में पलक झपकते ही कर देते थे सफाई

जिलाधिकारी ने बताया कि यह कार्य जल निगम द्वारा कराया जा रहा था और प्राइवेट मजदूर लगाकर सीवर लाइन के अंदर मजदूर कार्य कर रहे थे। लेकिन सीवर की जहरीली गैस के कारण इन मजदूरों की मौत हुई है। उन्होंने बताया कि फिलहाल जिस ठेकेदार के द्वारा कार्य कराया जा रहा था वह अभी फरार है। सभी मृतकों की पहचान किए जाने का प्रयास किया जा रहा है। फिलहाल स्पेशल टीम गठित करते हुए इस पूरे मामले की जांच के आदेश दे दिए गए हैं और ठेकेदार की तलाश शुरू कर दी गई है।

वहीं इस पूरे मामले को गंभीरता से लेते हुए सफाईकर्मियों की मौत होने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गहरा शोक व्यक्त करते हुए जल निगम के प्रबन्ध निदेशक को मृतकों के परिजनों को 10-10 लाख रुपयों की सहायता राशि अविलम्ब प्रदान करने के निर्देश दिये हैं।