स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

उत्तर प्रदेश के इस जिले में भाजपा में शामिल हुए 20 हजार मुस्लिम, संगठन में खुशी की लहर

Rahul Chauhan

Publish: Aug 21, 2019 13:26 PM | Updated: Aug 21, 2019 13:31 PM

Ghaziabad

खबर की मुख्य बातें-

-भाजपा महानगर संगठन ने सी गैटेगरी के बूथों पर ज्यादा फोकस किया (bjp sadasyata abhiyan 2019)

-यहां पर पार्टी के अधिक नए सदस्य बनाए गए

-दावा है कि कोई ऐसा बूथ नहीं बचा है, जहां नए सदस्य भाजपा में न जोड़े गए हो

गाजियाबाद। भारतीय जनता पार्टी ने छह जुलाई को अपना सदस्यता अभियान (bjp sadasyata abhiyan 2019) शुरू किया। जिसके तहत देशभर में नेताओं व पार्टी कार्यकर्ताओं द्वारा लोगों को भाजपा की सदस्ता (bjp sadasyata abhiyan) दिलाई गई। इसी कड़ी में गाजियाबाद महानगर में भी सदस्यता अभियान जोर-शोर से चलाया गया। इस दौरान करीब सवा लाख नए सदस्य भाजपा से जुड़े। इनमें पचास प्रतिशत मुस्लिम व पिछड़े वर्ग, एससी व एसटी वर्ग के लोग हैं जबकि पचास प्रतिशत में सामान्य वर्ग के शामिल हैं।

यह भी पढ़ें : योगी सरकार ने इस पत्रकार को बनाया मंत्री, समर्थकों में खुशी की लहर

भाजपा महानगर संगठन ने सी गैटेगरी के बूथों पर ज्यादा फोकस किया। यहां पर पार्टी के अधिक नए सदस्य बनाए गए। दावा है कि करीब डेढ़ माह तक चले इस अभियान में कोई ऐसा बूथ नहीं बचा है, जहां नए सदस्य भाजपा में न जोड़े गए हों। वहीं जनपद में नए सदस्य जोड़ने के अभियान में मिली सफलता से प्रदेश संगठन काफी खुश बताया जा रहा है।

यह भी पढ़ें: बेचा जा रहा दुनिया के सात आश्चर्य में शुमार Taj Mahal, खरीदारों के लिए 15 दिन का विशेष ऑफर

महानगर अध्यक्ष मानसिंह गोस्वामी ने इस अभियान को सफल बनाने का पूरा श्रेय भाजपा की टीम को देते हुए बताया कि गाजियाबाद महानगर संगठन को 28 सौ बुकलेट दी गर्इ थीं। प्रत्येक बुक में 50 नए सदस्य बनाने थे। गाजियाबाद क्षेत्र में 2014 बूथों पर जाकर नए सदस्य बनाने का अभियान शुरू किया गया। छह जुलाई को अभियान की शुरूआत की गई और बीस अगस्त को इसका समापन हुआ।

यह भी पढ़ें : मुजफ्फरनगर दंगों के आरोपी इस विधायक को बनाया गया कैबिनेट मंत्री, जानिए इसके पीछे की बड़ी वजह

मानसिंह ने बताया कि इस अभियान के दौरान गाजियाबाद में सवा लाख नए सदस्य बनाए गए हैं। जिसमें करीब 20 हजार मुस्लिमों को भाजपा का सदस्य बनाया गया है। वहीं बीस हजार एससी व एसटी तथा बीस हजार ओबीसी पार्टी के नए सदस्य बनए गए हैं। बाकी लोग सामान्य वर्ग के हैं। जिन बूथों पर भाजपा संगठनात्मक रूप से कमजोर था, उसे बहुत मजबूत करने का काम किया गया है। क्षेत्र में कोई ऐसा बूथ नहीं बचा है जहां अब भाजपा मजबूत स्थिति में नहीं है।