स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

स्कूल हॉस्टल में रहने वाली छात्रा की हुई मौत, अधीक्षिका को किया गया निलंबित

Bhawna Chaudhary

Publish: Jul 13, 2019 22:00 PM | Updated: Jul 13, 2019 17:25 PM

Gariaband

देवसुन्द्रा के अजा कन्या छात्रावास(girls hostel) की एक छात्रा को शुक्रवार सुबह बेहोशी की हालत में पलारी अस्पताल में लाया गया। जहां इलाज के दौरान बच्ची की मौत (Student Died) हो गई।

पलारी. विकासखंड के ग्राम देवसुन्द्रा के अजा कन्या छात्रावास(girls hostel) की एक छात्रा को शुक्रवार सुबह बेहोशी की हालत में पलारी अस्पताल में लाया गया। जहां इलाज के दौरान बच्ची की मौत (Student Died) हो गई। मृतका बिनौरी निवासी थी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार शुक्रवार सुबह देवसुन्द्रा अजा कन्या छात्रावास की बिनौरी निवासी कक्षा चौथी की मुस्कान (9) पिता समारू पाटले ने स्वास्थ्य खराब होने के कारण दम तोड़ दिया है। दो वर्ष पहले भी इसी छात्रावास मे बिनौरी की ही 5 वर्षीय सानिया पिता गोपाल रात्रे की मौत हो गई थी। मुस्कान के मौत के खबर से उसके परिजनों का रो-रोकर बुराहाल है। मुस्कान के दीदी शैलेन्दी, आरती, नीलम व भाई शैलेन्द्रा पाटले व भाभी इंदु पाटले ने बताया कि मुस्कान को किसी प्रकार की बीमारी की शिकायत नही थी। कुछ दिन पूर्व तक वह हमारे साथ हंसी-खेलती रही थी। भाई शैलेन्द्रा पाटले ने बताया कि सप्ताहभर पहले मुस्कान को स्वस्थ हालत में छात्रावास में दाखिला कर आया था।

मुस्कान के दीदी शैलेन्दी व भाभी इंदु पाटले ने अधीक्षिका पर आरोप लगाते हुए कहा कि जब मुस्कान कि तबीयत खराब थी तो हमें क्यों नहीं इसकी जानकारी दी। जब हम अस्पताल में देखने गए तो मुस्कान का हाथ अकडा़ हुआ था। शरीर ठंडा पड़ गया था। पोस्टमार्टम के बाद अंतिम दर्शन के लिए घर न ले जाकर आनन-फानन में मुक्तिधाम ले जाकर अंतिम संस्कार कर दिया गया। परिजनों ने मामले में लीपापोती करने का आरोप लगाते हुए आरोपी के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की है।

मुस्कान की सहपाठी लक्ष्मी साय ने बताया कि खाना खाने के बाद हम सब सो गए। फिर मुस्कान ने देर रात सिर दर्द होने की बात कही। मुझे सिर दबाने को कही। मैंने उसका सिर दबाया, फिर वह सो गई। सुबह हम सब उठ गए पर मुस्कान नहीं उठी।

जांच में पहुंचा आयुक्त
घटना की सूचना मिलते ही अजा विभाग के आयुक्त आरएस भोई ने छात्रावास का मुआयना किया। कर्मचारी व छात्राओं का बयान दर्ज कर व्यवस्था में सुधार लाने की हिदायत दी।

कलक्टर ने किया दुख व्यक्त
घटना के बाद से अजा कन्या छात्रावास देवसुन्द्रा की अधीक्षिका रीना तीमोथी को देखरेख में लापरवाही के आरोप में निलम्बित कर दिया है। वहीं घटना पर दुख व्यक्त करते हुए कलक्टर पीयूष गोयल के निर्देश पर आदिम जाति व अजा विभाग को तत्कालिक सहायता राशि 20 हजार रुपए परिजनों को प्रदान करने के निर्देश दिए है। छात्र सुरक्षा बीमा योजना के तहत 1 लाख रुपए प्रदान किया जाएगा।

मुस्कान को हो रही थी उल्टी : अधीक्षिका
छात्रावास अधीक्षिका रीना तीमोथी ने बताया कि मुस्कान को उल्टी होने के कारण रात 9 बजे उप स्वास्थ्य केन्द्र ससहा लेकर गई। जहां प्राथमिक इलाज के बाद छुट्टी कर दी गई। अगली सुबह नहीं उठने पर बेहोशी के हालत में पलारी अस्पताल लेकर गई। मैने उसके परिजन को मुस्कान के तबीयत को लेकर जानकारी देनी चाही, मगर मोबाइल नहीं लगा। पड़ोसियों से संपर्क कर उसके परिजन को सूचना दी।

छात्रावास में अव्यवस्था का आलम
छात्रावास में संचालित मध्याह्न भोजन किसी कक्ष में नहीं, वरन शौचालय में बनाया जा रहा था। जहां खाना बनाना था वहां लकडिय़ां ठूंस-ठूंस कर भरी है। छात्रावास के एक ही बेड मे छात्रा सुहाना पिता रितिक 7 वर्ष, वर्षा पिता पुनीत 8 वर्ष, हिना पिता राजकुमार 7 वर्ष एक ही बेड में स्वास्थ्य खराब होने के कारण सोये हुए थे। जिन्हें अस्पताल मे भर्ती कराया गय। वहीं घटना से भयभीत तीन छात्राओं को उसके परिजन घर ले गए।

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter और Instagram पर या LIVE अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News