स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

भगवान कुलेश्वर महादेव मंदिर का चबूतरा पानी घिरा, एनिकट हुआ लबालब

Bhawna Chaudhary

Publish: Sep 04, 2019 22:00 PM | Updated: Sep 04, 2019 16:06 PM

Gariaband

एक बार फिर त्रिवेणी संगम की धार अचानक बढ़ गई। नदी के बीचो-बीच स्थित भोलेनाथ कुलेश्वर महादेव मंदिर का चबूतरा चारों ओर से पानी की धार से घिर गया है।

राजिम. मंगलवार को एक बार फिर त्रिवेणी संगम की धार अचानक बढ़ गई। नदी के बीचो-बीच स्थित भोलेनाथ कुलेश्वर महादेव मंदिर का चबूतरा चारों ओर से पानी की धार से घिर गया है। अचानक आई बाढ़ से लोग मंदिर तक दर्शन के लिए नहीं पहुंच पाए। ऐसे लोगों को नदी तट से ही हाथ जोडक़र विनती करते हुए संतुष्ट होना पड़ा।

एक तरफ प्रदेश के कई जिलों में अवर्षा के कारण अकाल की स्थिति का सामना करना पड़ रहा है तो दूसरी ओर धर्म क्षेत्र राजिम इलाके में भोलेनाथ की असीम कृपा बरस रही है। यहां अभी दो-तीन दिनों से अच्छी बारिश हो रही है। क्षेत्र में धान के पौधें संभल गए हैं। चारों तरफ जहां तक नजर दौड़ाओ खेतों में हरियाली नजर आ रही है। खेत पानी से लबालब भरे हुए हैं। किसान, मजदूरों के चेहरे पर रौनक नजर आ रही है। राजिम संगम में तीन नदियां प्रवाहित होती है।

इनके ऊपरी इलाके में जब-जब अच्छी बारिश होती है तब-तब तीनों नदी लबालब नजर आती हैं। राजिम पुल से देखने में तीनों नदी समुद्र की भांति दिखती है। यहां चार एनिकट बने हुए हैं। चारों एनिकट के ऊपर से उफनती धार बह रही है।