स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

क्राइम शो देखकर नाबालिग लड़के के अंदर पैदा हुआ शैतान, फिर 6 साल के बच्चे के साथ किया ऐसा काम, पुलिस हैरान

Bhawna Chaudhary

Publish: Sep 01, 2019 13:53 PM | Updated: Sep 01, 2019 13:58 PM

Gariaband

नाबालिग ने 6 साल के मासूम के साथ अप्राकृतिक कृत्य के लिए उसकी हत्या कर दी।

खरोरा. एक तरफ जहां टीवी सीरियल क्राइम शो देशभर में हो रहे अपराधों को रोकने का संदेश देते हुए प्रसारित किया जाता है वहीं कुछ लोग इसे देखकर अपराधों को अंजाम दे रहे है। ऐसा ही घटना छत्तीसगढ़ में सामने आई है जहां एक नाबालिग ने 6 साल के मासूम के साथ अप्राकृतिक कृत्य के लिए उसकी हत्या कर दी।

पुलिस से मिली जानकारी अनुसार 22 अगस्त की शाम करीब 4 से 5 बजे एक 6 साल का बच्चा सूरज कुमार ध्रुव लापता हो गया था। उसके परिजन दुलार सिंह ध्रुव खरोरा थाने पहुंच कर इसकी रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इसी बीच पुलिस को सूचना मिली कि लापता बच्चे की लाश गांव के पास नाली में पत्तों से ढका हुआ मिला है। इस सूचना उपरांत थाना प्रभारी अपने दल बल के साथ घटनास्थल पहुंच हत्या का मामला दर्ज कर हत्यारे के पतासाजी में जुट गई।

थाना प्रभारी रमेश मरकाम ने बताया पड़ोस में ही रहने वाले एक नाबालिग आरोपी जिसकी उम्र 17 वर्ष है जो क्राइम पेट्रोल सिरियल देखने व गांजे की आदी था। इस नाबालिग के साथ घटना के दिन मृतक बच्चे को देखा गया। घटना के दिन नाबालिग मृतक के साथ अप्राकृतिक कृत्य के मंशा लिए उसके घर पहुंचा गया और कंचा- बांटी खेलने के बहाने ले गया और घटना जगह में ले जा कर उसके साथ अप्राकृतिक कृत्य करने की बात कही।बच्चे ने मना करने पर और जोर जबर्दस्ती करने पर घर जाकर मां बाप को बताने की बात कही।

इस बात पर आरोपी गुस्से में आ गया और गले दबा हत्या कर दी और लाश को ठिकाने लगाने नाली में दबा पत्ते व घास से ढक़ दिया। घटना के दिन नाबालिग हत्यारे को साइकिल से तालाब जाते समय पैर में सने कीचड़ देखा गया। वहीं आरोपी दो साल पहले भी बच्चे के साथ इसी तरह के हरकत कर चुका था जिसकी जानकारी जांच में लगे पुलिस टीम को मिली। इस आधार पर पुलिस उक्त व्याभिचार हत्यारे नाबालिक तक पहुंच पाई। चुकि आरोपी ने क्राइम पेट्रोल सिरियल देखने का शौकिन था इसलिये वह साक्ष्य छुपाने का प्रयास किया। वहीं आरोपी गांजा का भी शौकीन था।

आरोपी नाबालिक की शातिर दिमाग के चलते हत्या के दिन शरीर में कांटे के चोट के निशान छुपाने मोटर साइकिल से गिर स्वयं नुकसान पहुंचाया। वहीं हत्या के दौरान जूता छूटने पर घटनास्थल पहुंचा और जूता को निकाल कर ले गया। वहीं पुलिस की हर गतिविधियों पर निगरानी रखने का काम करता रहा।

रायपुर एसपी खान के मार्गदर्शन में हत्या व हत्यारे तक पहुंचने के लिये गठित टीम में थाना प्रभारी रमेश मरकाम के नेतृत्व में महेश मिरी, एस आई नवीन लहरे, गजानंद ध्रुववंशी, मुकेश जागड़े, अवधेश पाण्डेय, जितेन्द्र कुर्रे का योगदान रहा। वहीं 6 वर्षीय बालक सुरज कुमार ध्रुव की हत्या की गुत्थी सुलझ जाने से गांव वालों ने राहत की सांस ली।