स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सांप काटने के बाद कलेक्टर ने रात 10 बजे छात्रा को पहुंचाया अस्पताल, इलाज होते तक रुके रहे, सोशल मीडिया पर हो रही तारीफ

Bhawna Chaudhary

Publish: Sep 11, 2019 14:35 PM | Updated: Sep 11, 2019 14:35 PM

Gariaband

सांप काटने के बाद कलेक्टर ने रात 10 बजे छात्रा को पहुंचाया अस्पताल, इलाज होते तक रुके रहे, सोशल मीडिया पर हो रही तारीफ

गरियाबंद. छत्तीसगढ़ के गरियाबंद जिले के नगर के सिविल लाइन स्थित पोस्ट मैट्रिक आदिवासी बालिका छात्रावास में सांप डसने से पीड़ित छात्रा को कलेक्टर ने रात में इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया। कलेक्टर लड़की का इलाज होते तक जिला अस्पताल में मौजूद रहे। इस बात का पता चलते ही सुबह से ही लोग सोशल मीडिया के माध्यम से कलेक्टर की मानवता और संवेदनशीलता की तारीफ करते हुए उन्हें धन्यवाद ज्ञापित कर रहे थे।

मिली जानकारी के अनुसार नगर के सिविल लाइन स्थित पोस्ट मैट्रिक आदिवासी बालिका छात्रावास में रहने वाली छात्रा उल्फी नेताम (19) को सोमवार की रात 9.30 बजे सांप ने डस लिया। घटना के वक्त वार्डन के हास्टल में नहीं होने पर गार्ड ने इसकी जानकारी अधीक्षिका को दी। उनके द्वारा फोन नहीं उठाने पर विभाग के अन्य अधिकारियों को फोन किया, लेकिन कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली। इसके बाद गार्ड नेे सूचना पटल पर मौजूद कलेक्टर के मोबाइल नम्बर पर फोन कर उन्हें घटना की जानकारी दी। जिसके बाद कलेक्टर श्याम धावड़े ने घायल बालिका और उसके साथियों को साथ लेकर जिला अस्पताल पहुंचे।

कलेक्टर के आने की भनक लगते ही आनन-फानन में पूरा प्रशासनिक अमला रात 10 बजे जिला अस्पताल पहुंच गया। कलेक्टर को देख डॉक्टर भी तुरंत हरकत में आए और लडक़ी का इलाज चालू कर दिया। लगभग 2 घंटे के इलाज के बाद डॉक्टरों ने लडक़ी की हालत को खतरे के बाहर बताया। डॉक्टरों ने कहा कि लडक़ी को आने में अगर कुछ और समय की देरी हो जाती तो उसकी हालत और गंभीर हो सकती थी।