स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

लूट के लिए फाइनेंसकर्मी की हत्या करने वाले बदमाशों से हुई पुलिस की मुठभेड़, एक पकड़ा, दूसरा फरार

Amit Sharma

Publish: Sep 19, 2019 10:43 AM | Updated: Sep 19, 2019 11:07 AM

Firozabad

— थाना लाइनपार पुलिस की ढोलपुरा के समीप हुई मुठभेड़, पैर में गोली लगने से घायल बदमाश को कराया अस्पताल में भर्ती।

फिरोजाबाद। आठ दिन पूर्व फाइनेंसकर्मी की लूट के लिए हत्या करने वाले बदमाशों की लाइनपार पुलिस से मुठभेड़ हो गई। जिसमें पुलिस ने एक बदमाश के पैर में गोली मारकर गिरा लिया जबकि उसका दूसरा साथी भागने में सफल हो गया। पुलिस ने घायल बदमाश को अस्पताल में भर्ती कराया है। जहां उसका उपचार चल रहा है।

यह भी पढ़ें—

VIDEO:खेत पर चल रहे इंजन में साड़ी फंसने से महिला की मौत, परिवार में मचा कोहराम

लाइनपार थाना क्षेत्र का मामला
बुधवार रात्रि थाना लाइनपार क्षेत्र के ढोलपुरा के निकट पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ हो गई। दोनों ओर से हुई फायरिंग के दौरान एक बदमाश के पैर में गोली लगने से घायल हो गया, जिसे उपचार के लिए जिला अस्पताल लाया गया है। वहीं एक बदमाश फरार हो गया जिसकी तलाश में पुलिस कॉबिंग कर रही है।

फाइनेंसकर्मी से की थी लूट
घायल हुए बदमाश का नाम देवेश उर्फ भोला पुत्र रामभरोसे निवासी ढोलपुरा थाना लाइनपार जिला फिरोजाबाद है। गिरफ्तार बदमाश ने पूछताछ में बताया कि उन लोगों ने अभी दिनांक 11 सितंबर को अमित रिसोर्ट के पास दिनदहाड़े एक फाइनेंस कर्मी की गोली मारकर हत्या कर दी थी और उससे 82000 रुपए लूटकर ले गए थे।

ये हुआ बरामद
पुलिस ने घायल बदमाश के पास से एक मोटरसाइकिल, तमंचा और नकदी बरामद की है। बदमाश द्वारा कुछ दिन पहले थाना टूंडला क्षेत्र में भी लूट की वारदात की गई थी। बदमाश देवेश उर्फ भोला से पूछताछ जारी है। मौके पर एसएसपी सचिंद्र पटेल, एसपी देहात राजेश कुमार सिंह, सीओ टूंडला डॉ. अरुण कुमार सहित कई थानों का पुलिस फोर्स मौके पर पहुंच गया था।

इसकी की थी हत्या
एसपी देहात ने बताया कि 11 सितंबर को करीब एक बजे दिन में अमित रिसोर्ट के पास आशीर्वाद माइक्रो फाइनेंस लिमिटेड कंपनी ,टूंडला के फाइनेंस कर्मी नौबत पुत्र लक्ष्मण निवासी चूरियारी थाना फतेहपुर सिकरी की बदमाशो द्वारा गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। जब वह कलेक्शन करके आ रहा था। उससे कलेक्शन के करीब 82000 रुपये लूट लिए गए थे।