स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

एसबीआई का मुनाफे में तीन गुना ज्यादा की बढ़ोतरी, बैंक एनपीए में भी भारी कटौती

Saurabh Sharma

Publish: Oct 25, 2019 19:00 PM | Updated: Oct 25, 2019 19:00 PM

Finance news

  • पिछले साल के मुकाबले समान अवधि में 3011.73 करोड़ रुपए पहुंचा मुनाफा
  • एनपीए 276 आधार अंक कम होकर 7.19 फीसदी पर आया

नई दिल्ली। देश के सबसे बड़े वाणिज्यिक बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) का चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में मुनाफा तीन गुना से अधिक बढ़ गया है। खास बात तो ये है कि बैंक के एनपीए में भी भारी मात्रा में कटौती देखने को मिली है। जानकारों की मानें तो आने वाले दिनों में बैंकिंग सिस्टम में और भी सुधार आने के आसार हैं। आइए आपको भी बताते हैं कि आखिर एसबीआई की ओर से तिमाही नतीजों में किस तरह के आंकड़ें पेश किए हैं।

यह भी पढ़ेंः- अहमदाबाद की यह कंपनी बनाएगी नई संसद का डिजाइन, कुछ ऐसे होगा काम

मुनाफे में तीन गुना से ज्यादा की बढ़ोतरी
एसबीआई ने आज तिमाही नतीजे घोषित कर दिए हैं। जिसके तहत बैंक का मुनाफा 3011.73 करोड़ रुपए पर पहुंच गया जो पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में 944.87 करोड़ रुपए रहा था। बैंक ने निदेशक मंडल की बैठक के बाद यहां जारी बयान में यह जानकारी देते हुए कहा कि सितंबर में समाप्त इस तिमाही में उसका लाभ 219 फीसदी बढ़ा है। बैंक ने कहा कि सहायक इकाई एसबीआई लाइफ इंश्योरेंस कंपनी के कुछ हिस्सेदारी बेचे जाने से इस दूसरी तिमाही में 3484.30 करोड़ रुपए का लाभ हुआ है, जिससे उसका लाभ इतना बढ़ा है।

यह भी पढ़ेंः- धनतेरस के दिन सोने के दाम में 250 रुपए का उछाल, चांदी 900 रुपए चमकी

एनपीए स्टेटस पर भी सुधार
बैंक ने कहा कि उसके संपदा की गुणवत्ता में सुधार हुआ है। सकल गैर निष्पादित परिसंपत्ति 276 आधार अंक कम होकर 7.19 फीसदी पर आ गया और इस दौरान शुद्ध एनपीए 205 आधार अंक कम होकर 2.79 फीसदी पर रहा है। इस तिमाही में बैंक की शुद्ध ब्याज आय 24600 करोड़ रुपए रही है जो पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि के 20906 करोड़ रुपए की तुलना में 17.67 फीसदी अधिक है। एसबीआई ने कहा कि इस तिमाही में खुदरा और व्यक्तिगत ऋण उठाव में तेजी आने से घरेलू ऋण उठाव में इस तिमाही में 8.43 फीसदी की तेजी रही है।

[MORE_ADVERTISE1]