स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पंजाब बजट: सरकार ने सराहा विपक्ष ने नकारा

Yuvraj Singh Jadon

Publish: Jun 21, 2017 15:31 PM | Updated: Jun 21, 2017 15:31 PM

Faridkot

पंजाब आम बजट को जहां राज्य सरकार ने सराहा है वहीं विपक्ष ने गुमराह करने वाला बताया है, पंजाब के मुख्यमंत्री

चडीगढ। पंजाब आम बजट को जहां राज्य सरकार ने सराहा है वहीं विपक्ष ने गुमराह करने वाला बताया है। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह तथा वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल ने विधानसभा में बजट पेश किया।

पंजाब सरकार का बजट पूरी तरह से दिशाहीन है। इस बजट में आंकड़ों की बाजीगरी दिखाकर पूरे पंजाब को गुमराह किया गया है। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह तथा वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल ने जो बजट में आंकड़े पेश किए हैं उनमें काफी अंतर है। बजट में किसानों की कर्ज माफी के लिए केवल 1500 करोड़ रुपए रखे गए हैं। यह धनराशि काफी कम है।- सुखबीर बादल, प्रधान अकाली दल।

बजट में आम लोगों की पूरी तरह से अनदेखी की गई है। बजट में समाज के गरीब तथा पिछड़े वर्ग को अनदेखा किया गया है। सरकार ने बजट के माध्यम से व्यापारी,किसान व मजदूर समेत तमाम वर्गों की अनदेखी की है। सरकार ने किसानों का पूरा कर्ज माफ करने का वादा किया था, लेकिन यह केवल सुर्खियां बटौरने के अलावा कुछ नहीं है।- विजय सांपला, अध्यक्ष भाजपा

सरकार कर्ज माफ करने से मुकर गई है। चुनाव से पहले और चुनाव के बाद की भाषा में जहां काफी फर्क आ गया है वहीं इस बजट में बेरोजगार नौजवानों के साथ धोखा किया गया है। क्योंकि निजी क्षेत्र की टैक्सियां डालना बेरोजगारी के खात्मे का कोई हल नहीं है। सरकार जिम्मेदारी से भाग रही है। विपक्ष सदन में इस मुद्दे को बजट पर चर्चा के दौरान उठाएगा।-एच.एस.फुल्का, नेता प्रतिपक्ष।

वर्तमान हालातों में जो बजट पेश किया गया है उसके लिए मनप्रीत बादल बधाई के पात्र हैं। बजट के माध्यम से सरकार ने घोषणा पत्र में किए वादे पूरे करने का प्रयास किया है। यह प्रयास भविष्य में भी जारी रहेगा। इस बजट से पंजाब की अर्थव्यवस्था को मजबूती मिलेगी। बजट के बाद विपक्ष पूरी तरह से मुद्दा विहीन हो गया है।- नवजोत सिद्धू, स्थानीय निकाय मंत्री पंजाब।