स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

ISIS के कब्जे में है दर्जनों पंजाबी, अमरिंदर ने सुषमा स्वराज से की बातचीत

Yuvraj Singh Jadon

Publish: Jul 11, 2017 17:27 PM | Updated: Jul 11, 2017 17:27 PM

Faridkot

विदेशी मामले मंत्री सुष्मा स्वराज ने 2014 से मोसूल में बंदी बनाये हुये 39 भारतीयों जिनमें अधिकतर पंजाबी है ही खोज

चंडीगढ़। विदेशी मामले मंत्री सुष्मा स्वराज ने 2014 से मोसूल में बंदी बनाये हुये 39 भारतीयों जिनमें अधिकतर पंजाबी है ही खोज करने और उनको वापिस भारत लाने के लिए हर सुविधा प्रदान करने हेतु सभी कोशिशें की जाने संबंधी पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह को आश्वासन दिया है। ईराक द्वारा मोसूल को आईएसआईएस से मुक्त करवा लिये जाने के बाद भारतीय परिवारों के बंदी बनाये गये अपने रिश्तेदारों की खोज करने की कोशिशे करने संबंधी रिपोर्टो के संदर्भ में कैप्टन अमरेन्द्र सिंह ने सोमवार दोपहर सुष्मा स्वराज के साथ बातचीत की और इस मामले में उनके सरगर्म दखल की मांग की।

केन्द्रीय मंत्री के साथ हुई अपनी टेलीफोन पर बातचीत के संबंध में मुख्यमंत्री ने कहा कि मोसूल में ईराक की आईएसआईएस पर जीत के बाद बंदी बनाये हुये व्यक्तियों के परिवार, उनके रिश्तेदारों की वापसी की उत्सुकता से इंतजार कर रहे है और उनको वापिस लाने के लिए केन्द्र सरकार की सहायता की जरूरत है।

मुख्यमंत्री कार्यालय के एक प्रवक्ता ने बताया कि निर्माण कार्यो में लगे भारतीयों को वर्ष 2014 मेें बंदी बना लिया गया था और इनको वापिस भारत लाने के लिए उनके मंत्रालय द्वारा सभी संभव कोशिशे किये जाने को भरोसा दिलाते हुये सुष्मा स्वराज ने कहा कि जनरल वीके सिंह को ईराक सरकार के साथ तालमेल करने के लिए ईराक भेजा गया है ताकि वहां फंसे भारतीयों को वापिस लाने के लिए सुविधा उपलब्ध करवाई जा सके। उन्होने कहा कि उन्होने भारतीय को हर सहायता देने के निर्देश दिये है।

सुष्मा ने कहा कि बताया कि एयरपोर्ट पर एयर इंडिया के कर्मचारियों को भी निर्देश दिये गये है कि वह इन भारतीयों की वापसी के लिए सहायता उपलब्ध करवाऐ। उन्होने कहा कि उनके मंत्रालय ने गुम हुये भारतीयों की खोज करने के लिएसभी उपलब्ध स्रोतों को सरगर्म कर दिया है जिन संबंधी अंतिम बार मोसूल ने एक गिरजाघर में छुपे होने संबधी पता लगा है।

केन्द्रीय मंत्री ने कैप्टन अमरेन्द्र सिंह ने बताया कि भारतीयों को वापिस लाने के लिए सभी चैनलों को सरगर्म कर दिया है और उन्होने कहा है कि इनके वापस भारत लाने के बाद उन्होने अपने अपने घर पहुंचाने के लिए राज्य सरकार सभी कदम उठाये।