स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

हरियाणा में ठेके पर होगी डॉक्टरों की भर्ती,प्रदेश में वर्षों से खाली हैं सैंकड़ों पद

Prateek Saini

Publish: Jun 27, 2019 17:17 PM | Updated: Jun 27, 2019 17:17 PM

Faridabad

Haryana Doctor Vacancy 2019: राज्य ( Haryana ) इस समय चिकित्सकों की कमी से जूझ रहा है, सरकार ( Haryana Government ) ने इस समस्या को हल करने के लिए बीच का रास्ता निकाला लिया है, इसी के साथ डॉक्टर भर्ती की आस में बैठे चिकित्सकों के लिए ( Haryana Doctor Vacancy 2019 ) भी यह बड़ी खुशी की ख़बर है...

 

(चंडीगढ़,फरीदाबाद): डॉक्टरों की कमी से जूझ रहे हरियाणा के लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया करवाने के उद्देश्य से सरकार ( Haryana government ) ने अब अनुबंध के आधार पर डॉक्टरों की भर्ती करने का फैसला कर लिया है। इस योजना को धरातल पर लागू करने के लिए ड्राफ्ट तैयार हो गया है। हरियाणा की जनसंख्या के अनुसार यहां इस समय करीब दस हजार चिकित्सकों की जरूरत है। इसकी एवज में केवल ढाई हजार चिकित्सक ही अपनी सेवाएं दे रहे हैं।


सूत्रों की मानें तो प्रदेश में डॉक्टरों के साढे पांच सौ पदों को ( Haryana Doctor Vacancy 2019 ) भरने के लिए लंबे समय से कवायद चल रही है लेकिन कोई भी नया चिकित्सक सरकार सेवा में आने के लिए तैयार नहीं है। इसके पीछे बड़ा कारण सरकार की तरफ से डॉक्टरों को दिया जाने वेतन बताया जा रहा है। सूत्रों के अनुसार हरियाणा में एक चिकित्सक को जहां साठ हजार रूपए वेतन मिलता है वहीं विशेषज्ञ चिकित्सक को करीब 75 हजार रुपए वेतन मिलता है। दूसरी तरफ तेजी से मेडिकल हब के रूप में विकसित हो रहे हरियाणा में चल रहे निजी अस्पतालों द्वारा सामान्य चिकित्सक को एक लाख रूपए और विशेषज्ञ चिकित्सक को करीब सवा लाख रूपए वेतन दिया जाता है। जिसके चलते नए चिकित्सक सरकारी नौकरी में आने की बजाए निजी अस्पतालों की तरफ जाना पसंद करते हैं। यही नीति सरकार के लिए मुसीबत बनी हुई है। जिसका खामियाजा प्रदेश के लोग भुगत रहे हैं। अब सरकार ने बीच का रास्ता निकाल लिया है। जिससे चिकित्सकों को उनकी मांग के अनुसार वेतन मिलेगा और लोगों को स्वास्थ्य सुविधाएं मिलेंगी। स्वास्थ्य विभाग द्वारा तैयार किए गए ड्राफ्ट के अनुसार अब जिला स्तर पर डाक्टरों अथवा विशेषज्ञ चिकित्सकों की भर्ती अनुबंध के आधार पर की जाएगी। जिसके तहत चिकित्सकों को मासिक रूप से निजी क्षेत्र के बराबर वेतन दिया जाएगा। इसके लिए बजट का अलग से प्रावधान किया जाएगा। डाक्टरों की अनुबंध के आधार पर नियुक्ति की जिम्मेदारी सिविल को सौंपी जाएगी।

Haryana Doctor Vacancy 2019

हरियाणा में चिकित्सकों की भारी कमी है। जिसे पूरा करने के लिए यह योजना बनाई गई है कि अनुबंध के आधार पर डाक्टरों की भर्ती की जाए। इसके लिए ड्राफ्ट योजना तैयार करके मुख्यमंत्री को भेज दी गई है। इसके अलावा सरकारी मेडिकल कालेजों में एमबीबीएस करने वालों के लिए यह शर्त लगाई है कि वह कम से कम दो वर्ष तक सरकारी अस्पताल में सेवाएं दें। सीएमओ की स्वीकृति के बाद इस योजना को लागू कर दिया जाएगा।

अनिल विज, स्वास्थ्य मंत्री हरियाणा।

 


हरियाणा से जुड़ी ताजा ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करे


यह भी पढे: गौ तस्करों के खिलाफ सख्त हुई हरियाणा सरकार, कानून को बनाया कठोर, पुलिस को दिए विशेष अधिकार