स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

लोकसभा में सौ से अधिक प्रत्याशियों पर भारी पड़ा नोटा

Prateek Saini

Publish: May 24, 2019 17:45 PM | Updated: May 24, 2019 17:45 PM

Faridabad

हरियाणा में 41 हजार मतदाताओं ने नोटा दबाकर दर्ज किया विरोध...

 

(चंडीगढ़,फरीदाबाद): लोकसभा चुनाव 2019 के परिणाम सामने आने के बाद हरियाणा उन 17 राज्यों में से एक राज्य बना जिनमें बीजेपी ने पूरी की पूरी सीट हासिल की। राज्य बीजेपी ने पिछली जीत को बरकारार रखा। पर चौंकाने वाली बात यह है कि बीजेपी को बंपर जीत देने वाले राज्य में बड़ी संख्या में मतदाताओं ने नोटा का प्रयोग किया। हरियाणा की सभी 10 लोकसभा सीटों के लिए 12 मई 2019 को हुए मतदान में 41,781 मतदाताओं ने नोटा का प्रयोग किया, जो कि 0.33 प्रतिशत है। यानि इन मतदाताओं को कोई भी प्रत्याशी पंसद नहीं आया। इनमें, सबसे अधिक 7,943 अंबाला लोकसभा क्षेत्र और सबसे कम भिवानी-महेंद्रगढ़ लोकसभा क्षेत्र में 2,041 लोगों ने नोटा का बटन दबाया।

 

संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ. इन्द्र जीत ने बताया कि गुडग़ांव लोकसभा क्षेत्र में 5389 नोटा मत डाले गए। इसी प्रकार, करनाल में 5463, कुरुक्षेत्र में 3198, सिरसा में 4339, सोनीपत में 2464, फरीदाबाद में 4986, हिसार में 2957 और रोहतक में 3001 नोटा प्रयोग किया। उन्होंने बताया कि हरियाणा में 53,698 पोस्टल बैलेट वैध पाए गए, जिसमें सबसे अधिक भिवानी-महेंद्रगढ़ लोकसभा क्षेत्र में 13,975 और सबसे कम सिरसा लोकसभा क्षेत्र में 2116 हैं। उन्होंने बताया कि अंबाला लोकसभा क्षेत्र में 2841, गुडग़ांव में 5071, करनाल में 2696, कुरुक्षेत्र में 2740, सोनीपत में 5756, फरीदाबाद में 2828, हिसार में 4769 और रोहतक में 10906 पोस्टल बैलेट वैध पाए गए।