स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

CLAT-2019: एग्जाम 26 मई को, रीजनिंग और इंग्लिश लेंग्वेज पर कमांड से क्रैक होगा क्लैट

Sunil Sharma

Publish: May 24, 2019 16:22 PM | Updated: May 24, 2019 16:22 PM

Exam

देशभर की 21 नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी (एनएलयू) में एडमिशन के लिए 26 मई को एंट्रेस टेस्ट आयोजित किया जाएगा।

कॉमन लॉ एडमिशन टेस्ट (CLAT-2019) में अब एक सप्ताह का भी समय नहीं बचा है। एडमिट कार्ड भी जारी किए जा चुके हैं। देशभर की 21 नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी (एनएलयू) में एडमिशन के लिए 26 मई को एंट्रेस टेस्ट आयोजित किया जाएगा। एनएलयू ओडिशा देश के 40 शहरों में इस साल एग्जाम कंडक्ट करा रही है, वहीं एग्जाम भी ऑनलाइन के बजाय पेन-पेपर मोड में होगा। ऐसे में एक्सपट्र्स ने पत्रिका प्लस को बताया कि एग्जाम के लास्ट टाइम में स्टूडेंट्स अपनी तैयारी कैसी रखे और उनकी स्ट्रैटेजी क्या होनी चाहिए।

एक्सपर्ट अभिषेक चतुर्वेदी ने बताया कि सबसे पहले तो स्टूडेंट्स को इस बात का विशेष ध्यान रखना है कि अब लास्ट टाइम में कुछ भी नया टॉपिक स्टार्ट नहीं करना है। जो कुछ पूरे साल पढ़ा है, बस उसे ही रिवाइज करना है। इसका सबसे अच्छा तरीका है कि पूरे साल जो मॉक टेस्ट दिए हैं, उन्हें रिवाइज करें। पेपर के रीजनिंग पार्ट में अच्छी स्कोरिंग के लिए जरूरी है कि स्टूडेंट्स ज्यादा से ज्यादा और डिफरेंट टाइप के क्वेश्चंस सॉल्व करें। वहीं क्रिटिकल रीजनिंग के सवाल सॉल्व करने के लिए इंग्लिश अच्छी होनी चाहिए।

स्ट्रॉन्ग पार्ट पर करें फोकस
एक्सपर्ट के अनुसार, जो भी आपका वीक टॉपिक है, उस पर ज्यादा ध्यान नहीं दे, इसके बजाय अपने स्ट्रॉन्ग पॉर्शन को और मजबूत करें। वहीं स्टूडेंट्स के लिए साल २००८ से अब तक के क्लैट के सभी पेपर्स सॉल्व करना भी काफी हेल्पफुल रहेगा।

अप्रेल मिड तक के करंट अफेयर्स
पेपर में जनरल नॉलेज के 50 सवाल होंगे, इनमें से 70 परसेंट क्वेश्चंस करंट अफेयर्स से जुड़े होते हैं। इस बार ऑफ लाइन मोड में होने के कारण पेपर पहले ही बनकर तैयार हो चुके हैं, ऐसे में पेपर में मिड अप्रेल तक के ही बड़े घटनाक्रम से जुड़े सवाल होंगे। वहीं करीब 30 फीसदी सवाल 9वीं-10वीं क्लास के स्टैंडर्ड से ही पूछे जाएंगे। पेपर में इंग्लिश के 40 और मैथ्स के 20 सवाल पूछे जाएंगे, ये क्वेश्चंस भी 9वीं-10वीं क्लास के सिलेबस से ही होंगे।

इंग्लिश-रीजनिंग से सॉल्व होगा लीगल एप्टीट्यूड
अभिषेक चतुर्वेदी ने बताया कि पेपर में लीगल एप्टीट्यूड के 50 सवाल पूछे जाते हैं, इनमें कुछ क्वेश्चंस में लॉ की प्राइमरी नॉलेज काम आती है। वहीं अधिकतर सवाल लीगल सिचुएशन रीजनिंग से जुड़े होते हैं, इनमें इंग्लिश और रीजनिंग के बेस पर अच्छा स्कोर किया जा सकता है।