स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अमरीका में ब्रिटिश दूत किम डारोच का इस्तीफ़ा, ट्रंप से विवाद भड़कने के बाद लिया फैसला

Siddharth Priyadarshi

Publish: Jul 10, 2019 17:21 PM | Updated: Jul 11, 2019 10:16 AM

Europe

  • अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने किम डारोच (Kim Darroch) को मूर्ख आदमी कहा था।
  • मामला उस ईमेल लीक से शुरू हुआ था जिसमें डारोच ने ट्रंप प्रशासन को अनाड़ी और अयोग्य बताया था

लंदन। अमरीकी राष्ट्रपति ट्रंप से विवाद भड़काने के बाद ब्रिटिश राजदूत किम डारोच ने इस्तीफ़ा दे दिया है। अपने त्याग पत्र में उन्होंने कहा है कि वर्तमान स्थिति मेरे लिए अपनी भूमिका निभाना असंभव बना रही है। लंदन स्थित ब्रिटिश विदेश कार्यालय ने कहा है कि वाशिंगटन में ब्रिटेन के राजदूत सर किम डारोच ने ट्रम्प की आलोचना करने वाले ई-मेल्स के लीक होने के बाद पैदा हुए विवाद से तंग आकर इस्तीफा सौंप दिया है।

डारोच का इस्तीफा

विदेशी कार्यालय में सबसे वरिष्ठ अधिकारी साइमन मैकडॉनल्ड्स को लिखे एक पत्र में डारोच ने कहा कि ट्रम्प ने मुझे और ब्रिटिश पीएम तक को 'मूर्ख व्यक्ति" और "बहुत बेवकूफ" कहा है। जिसका मतलब है कि वह सभी सीमायें पार कर चुके हैं। इसलिए वह आगे काम जारी नहीं रख सकते।

ईमेल लीक मामला: अमरीका और ब्रिटेन में ठनी, ट्रंप ने थेरेसा मे को कहा 'मूर्ख'

"इस दूतावास से आधिकारिक दस्तावेजों के लीक होने के बाद से मेरी स्थिति और राजदूत के रूप में मेरे शेष कार्यकाल की अवधि के बारे में अटकलों का एक बड़ा दौर शुरू हुआ है," उन्होंने अपने इस्तीफे में लिखा। आगे वह लिखते हैं, “मैं उस अटकल को समाप्त करना चाहता हूं। वर्तमान स्थिति मेरे लिए अपनी भूमिका निभाना असंभव बना रही है। "

सरकार ने स्वीकार किया इस्तीफा

डारोच के पत्र के जवाब में मैकडॉनल्ड ने व्यक्तिगत अफसोस व्यक्त किया और उनका इस्तीफा स्वीकार कर लिया। विदेश विभाग ने पूरे विवाद में संतुलित व्यवहार करने के लिए डारोच की प्रशंसा की है और कहा है कि "आपने प्रतिष्ठित कैरियर के साथ, गरिमा, व्यावसायिकता और सभी स्तरों पर व्यवहार किया है"।

मैकडॉनल्ड्स ने कहा: “प्रधानमंत्री, विदेश सचिव और पूरी सार्वजनिक सेवा आपके साथ खड़ी है। आप एक दुर्भावनापूर्ण लीक का निशाना थे, लेकिन असल में आप बस अपना काम कर रहे थे। मैं दूतावास में अपने परिवार और अपने सहयोगियों पर दबाव को दूर करने की आपकी इच्छा को समझता हूं और मैं इस तथ्य की प्रशंसा करता हूं कि आप खुद से ज्यादा दूसरों के बारे में सोचते हैं। ”

पीएम ने की तारीफ

हाउस ऑफ कॉमन्स में बोलते हुए थेरेसा मे ने यूनाइटेड किंगडम की सेवा के लिए डारोच की प्रशंसा की। जेरेमी कॉर्बिन ने भी डारोक की तारीफ की है। आपको बता दें कि राजदूत द्वारा ट्रंप प्रशासन को "अनाड़ी और अयोग्य" बताते हुए ईमेल आने के बाद राष्ट्रपति द्वारा राजदूत को "बहुत बेकार आदमी" कहा गया।

 

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..